close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब ये कंपनी करेगी सेना के लड़ाकू टैंक बनाने में अहम मदद, जीता टेंडर

अशोक लेलैंड भारतीय सेना के व्हील वाले सैन्य वाहनों का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है

अब ये कंपनी करेगी सेना के लड़ाकू टैंक बनाने में अहम मदद, जीता टेंडर
अशोक लेलैंड ट्रैक्ड व्हीकल के बाजार में कदम रख रहा है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

स्वाति खंडेलवाल, नई दिल्ली: हिंदुजा समूह की प्रमुख फ्लैगशिप कंपनी अशोक लेलैंड ने शुक्रवार को घोषणा की है कि उसने सेना के लिए ट्रैक्ड व्हीकल स्पेस का टेंडर अपने नाम कर लिया है. यह टेंडर विकास कार्यों के लिए है और इसके जरिए अशोक लेलैंड ट्रैक्ड व्हीकल के बाजार में कदम रख रहा है. यहां आपको बता दें कि अशोक लेलैंड भारतीय सेना के व्हील वाले सैन्य वाहनों का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है.

यह काम करेगी कंपनी
काम के दायरे के मुताबिक, कंपनी लड़ाकू वाहन अनुसंधान और विकास प्रतिष्ठान (सीवीआरडीई), चेन्नई के साथ निर्माण, असेंबली और हल्के वजन के क्लच के परीक्षण के लिए सहयोग करेगी. जिसका इस्तेमाल वजन अनुकूलित 1500 हार्सपॉवर के ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन वाले मुख्य बैटल टैंक के डिजाइन और विकास में किया जाएगा.

कंपनी को दिख रही हैं भारी संभावनाएं
इस मौके पर अशोक लेलैंड के डिफेंस हेड अमनदीप सिंह ने कहा, कंपनी के व्यापार के दायरे को विस्तारित करने की रणनीति के एक हिस्से के रूप में... यह अब ट्रैक्ड वाहनों पर काम कर रही है. उन्होंने आगे कहा, "इस जीत के साथ, हम अभी तक एक और मील का पत्थर चिह्नित करते हैं जहां हम अपने सैनिकों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले ट्रैक्ड वाहनों पर काम करना शुरू करते हैं. हम भारतीय सेना के मौजूदा बीएमपी/टैंकों को अपग्रेड करने में भारी संभावनाएं देखते हैं."