असम में बाढ़ से स्थिति हुई विकराल, अब तक 15 की मौत; 2.53 लाख लोग प्रभावित

राज्य में धेमाजी सार्वधिक प्रभावित जिला है और इसके बाद तिनसुकिया, माजुली और डिब्रूगढ़ भी बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं.

असम में बाढ़ से स्थिति हुई विकराल, अब तक 15 की मौत; 2.53 लाख लोग प्रभावित
असम में बाढ़.

गुवाहाटी: मानसून के असम पहुंचने के बाद पिछले कुछ दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है और इस कारण से राज्य में बाढ़ आ गई है. असम के 16 जिलों के 704 गांव बाढ़ की चपेट में हैं. ब्रह्मपुत्र नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. ये जानकारी अधिकारियों ने शुक्रवार को दी. असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने सभी जिलों के उपायुक्तों को बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य तेज करने के निर्देश दिए हैं. असम में एक और व्यक्ति की मौत हो जाने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ कर 15 हो गई.

राज्य में धेमाजी सार्वधिक प्रभावित जिला है और इसके बाद तिनसुकिया, माजुली और डिब्रूगढ़ भी बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की दैनिक बाढ़ रिपोर्ट के मुताबिक डिब्रूगढ़ में बाढ़ ने एक और व्यक्ति की जान ले ली.

ये भी पढ़ें- मानसून पूरे देश में 12 दिन पहले पहुंचा, इन राज्यों में बिजली गिरने से 10 की मौत

अधिकारियों ने कहा कि ब्रह्मपुत्र नदी और इसकी सहायक नदियां कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं और इसके चलते धेमाजी, लखीमपुर, बिश्वनाथ, उदलगुड़ी, दरंग, बक्सा, कोकराझार, बारपेटा, नागांव, गोलाघाट, जोरहाट, माजुली, शिवसागर, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया जिले बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.

एएसडीएमए ने कहा कि जिला विभागों ने छह जिलों में 142 राहत शिविर और वितरण केंद्र स्थापित किए हैं, जहां 19,000 से अधिक लोग रहे रहे हैं.

LIVE TV