Covid-19 के इलाज में कारगर साबित हो रही AYUSH 64, दिल्ली में आज से मिलेगी मुफ्त

आयुष मंत्रालय (Ministry of AYUSH) ने सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट (CSIR) और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की निगरानी में देश के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती करीब 140 मरीजों पर इस दवा का टेस्ट किया है. स्टडी में सामने आया कि ये दवाई लेने के बाद कोरोना मरीज जल्दी स्वस्थ हुए हैं और उनका RT-PCR टेस्ट उम्मीद से पहले नेगेटिव हुआ है.

Covid-19 के इलाज में कारगर साबित हो रही AYUSH 64, दिल्ली में आज से मिलेगी मुफ्त
फाइल फोटो: (PTI)

नई दिल्ली: कोरोना के बढ़ते प्रकोप और दवाओं की कालाबाजारी की खबरों के बीच आयुष मंत्रालय ने एक बड़ा कदम उठाया है. कोरोना के इलाज में कारगर साबित हो रही आयुष- 64 दवा का मंत्रालय मुफ्त में बांटी जा रही है. अब दिल्ली में भी आज से 7 जगहों पर इस दवा को मुफ्त में बांटा जाएगा.

दिल्ली में आज से निशुल्क वितरण के कई और केंद्र चालू हो जायेंगे. होम आइसोलेशन या कुछ सरकारी/गैर सरकारी संगठनों की ओर से ऑपरेट किए जा रहे आइसोलेशन सेंटरों में रह रहे कोविड-19 के मरीज आयुष मंत्रालय की इस पहल का फायदा उठा सकते हैं.

सेंटर पर लेकर जाएं आधार

मरीज या उनके प्रतिनिधि आयुष-64 की गोलियों का एक मुफ्त पैक पाने के लिए मरीज की आरटी पीसीआर पॉजिटिव रिपोर्ट और उसके आधार कार्ड की हार्ड या सॉफ्ट कॉपी के साथ इन केंद्रों पर जा सकते हैं. जरूरी होने पर, इन गोलियों की और डोज भी मरीज को दी जाएगी.
 
यहां इस बात पर गौर किया जा सकता है कि आयुष -64 एक पॉली हर्बल औषधि है, जिसे कोविड -19 के बिना लक्षण वाले, हल्के और मध्यम स्तर के संक्रमण के इलाज में फायदेमंद पाया गया है.  आयुष-64 की सिफारिश आयुर्वेद और योग पर आधारित राष्ट्रीय नैदानिक प्रबंधन प्रोटोकॉल में की गई है.

ये भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण के हैं हल्के लक्षण? Ayush 64 आयुर्वेदिक दवा को कहा जा रहा कारगर

दवा को आईसीएमआर की टास्क फोर्स और होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड -19 के मरीजों के लिए आयुर्वेदिक डॉक्टरों के दिशानिर्देश के बाद सत्यापित किया गया है. इस दवा का टेस्ट भी आईसीएमआर के पूर्व महानिदेशक डॉ. वी. एम. कटोच की अध्यक्षता वाली कमेटी की निगरानी में किया गया है. इसके बाद ही इसे कोविड -19 के मरीजों के मानक देखभाल के अतिरिक्त एक उपाय के तौर पर जोड़ा गया है.

कहां-कहां मिलेगी दवा?

राजधानी के जिन सात केंद्रों पर सोमवार से बिना लक्षण वाले, हल्के और मध्यम स्तर के कोविड-19 मरीजों के लिए आयुष–64 उपलब्ध होगी उनमें ये सेंटर शामिल हैं.

ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद (एआईआईए), सरिता विहार (सुबह 9.30 बजे - दोपहर 1.00 बजे)
मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान, अशोक रोड (सभी सात दिन, सुबह 8.30 बजे - शाम 4.30 बजे)
रीजनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ यूनानी मेडिसिन, अबुल फ़ज़ल एन्क्लेव पार्ट -1, जामिया नगर, ओखला (सुबह 9 बजे - शाम 5 बजे)
यूनानी मेडिकल सेंटर, सफदरजंग अस्पताल (सुबह 9 बजे - शाम 4 बजे)
यूनानी स्पेशलिटी क्लिनिक, डॉ. एम. ए. अंसारी हेल्थ सेंटर, जामिया मिलिया इस्लामिया (सुबह 9 बजे - शाम 4.30 बजे)
सेंट्रल आयुर्वेद रिसर्च इंस्टीट्यूट, पंजाबी बाग (सुबह 9.30 बजे - 4 बजे)
सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन योग और नेचुरोपैथी, जनकपुरी (सुबह 9 बजे - 12 बजे

इसके अलावा रोहिणी में सेक्टर 19 में सीसीआरवाईएन का प्राकृतिक चिकित्सा अस्पताल भी बुधवार (9 बजे - दोपहर 12 बजे) से आयुष-64 को बांटने का काम करेगा. साथ ही आयुष भवन, जीपीओ कॉम्प्लेक्स के रिसेप्शन पर भी एक बिक्री काउंटर बनाया गया है जहां दवा की किट मौजूद है.

असरदार साबित हुई है दवा

आयुष मंत्रालय (Ministry of AYUSH) ने सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट (CSIR) और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की निगरानी में देश के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती करीब 140 मरीजों पर इस दवा का टेस्ट किया है. स्टडी में सामने आया कि ये दवाई लेने के बाद कोरोना मरीज जल्दी स्वस्थ हुए हैं और उनका RT-PCR टेस्ट उम्मीद से पहले नेगेटिव हुआ है.

VIDEO-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.