close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अयोध्या फैसले के बाद NSA अजीत डोभाल के घर बैठक, धार्मिक गुरुओं ने लिया हिस्सा

एनएसए की बैठक में स्वामी रामदेव, अवधेशानंद गिरी, स्वामी परमात्मानंद, कल्बे जव्वाद शामिल हुए.

अयोध्या फैसले के बाद NSA अजीत डोभाल के घर बैठक, धार्मिक गुरुओं ने लिया हिस्सा

नई दिल्ली: अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Doval) के दिल्ली स्थित आवास पर आज सद्भावना बैठक का आयोजन किया गया. इसमें हिंदू संगठनों के अलावा मुस्लिम समाज से जुड़े धर्मगुरू भी शामिल हुए. तकरीबन 2 घंटे चली इस बैठक में देश में शांति व्यवस्था को लेकर चर्चा की गई.

ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिसे मशावरत के अध्य्क्ष नवेद हामिद, अहले हदीस अल जमात से असगर अली मेंहदी सल्फी, बाबा राम देव, शिया धर्मगुरु कल्बे जव्वाद समेत करीब 25 लोग इस बैठक में शामिल थे.

यह भी पढ़ें- सोमनाथ मंदिर की तर्ज पर बनेगा ट्रस्ट, जानिए कब शुरू होगा राम मंदिर निर्माण
अयोध्या विवाद मामले में 70 सालों तक चली कानूनी लड़ाई और सुप्रीम कोर्ट में 40 दिनों तक लगातार चली सुनवाई के बाद शनिवार को ऐतिहासिक फैसला आ गया. फैसला विवादित जमीन पर रामलला के हक में सुनाया गया. फैसले में कहा गया कि राम मंदिर विवादित स्थल पर बनेगा और मस्जिद निर्माण के लिए अयोध्या में पांच एकड़ जमीन अलग से दी जाएगी.

अदालत ने कहा कि विवादित 02.77 एकड़ जमीन केंद्र सरकार के अधीन रहेगी. केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार को मंदिर बनाने के लिए तीन महीने में एक ट्रस्ट बनाने का निर्देश दिया गया है. राजनीतिक रूप से संवेदनशील राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की संविधान पीठ ने निर्मोही अखाड़ा और शिया वक्फ बोर्ड के दावों को खारिज कर दिया, लेकिन साथ ही कहा कि निर्मोही अखाड़े को ट्रस्ट में जगह दी जाएगी.

ये वीडियो भी देखें: