Ayodhya: रामलला के भक्तों को चरणामृत प्रसाद देने पर लगी रोक, Corona के चलते ट्रस्ट ने लिया निर्णय
X

Ayodhya: रामलला के भक्तों को चरणामृत प्रसाद देने पर लगी रोक, Corona के चलते ट्रस्ट ने लिया निर्णय

अयोध्या में रामलला के भक्तों को चरणामृत प्रसाद देने से रोक लगा दी गई है. ट्रस्ट ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ये फैसला लिया है. हालांकि श्रीरामजन्मभूमि के मुख्य अर्चक आचार्य सत्येंद्र दास ने इस फैसले को अनुचित बताते हुए नाराजगी व्यक्त की है. 

Ayodhya: रामलला के भक्तों को चरणामृत प्रसाद देने पर लगी रोक, Corona के चलते ट्रस्ट ने लिया निर्णय

अयोध्या: देश में तेजी से बढ़ रहे कोरोना (Coronavirus) केस को देखते हुए श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने शुक्रवार को बड़ा ऐलान किया है. इसके तहत अब रामलला के भक्तों को चरणामृत प्रसाद (Charanamrit Prasad) नहीं मिल पाएगा. ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने पुजारियों को इस संबंध में जानकारी देते हुए भक्तों को चरणामृत प्रसाद नहीं देने को कहा है.

'खुले हाथ से प्रसाद मतलब कोरोना का खतरा'

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र ने कहा, 'खुले हाथ से चरणामृत प्रसाद भक्तों को देने में कोरोना संक्रमण के प्रसार का खतरा है. इसलिए रामलला के दरबार में अब भक्तों को चरणामृत प्रसाद देने पर कुछ समय के लिए रोक लगा दी गई है. स्थिति सामान्य होने पर ये व्यवस्था फिर से शुरू कर दी जाएगी. हालांकि तब तक भक्तों को प्रसाद के रूप में सूखा मेवा वितरित करने की अनुमति दे दी गई है.'

ये भी पढ़ें:- असम, पश्चिम बंगाल में पहले चरण का मतदान कल, इन दिग्गजों की किस्मत होगी EVM में बंद

आचार्य सत्येंद्र दास ने फैसले पर जताई नाराजगी

चरणामृत प्रसाद देने पर रोक लगाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए श्रीरामजन्मभूमि के मुख्य अर्चक आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि भक्तों को चरणामृत प्रसाद देने पर रोक लगाना अनुचित है. रामनगरी के अन्य मंदिरों में प्रसाद पर रोक नहीं है तो यहां क्यों. रामलला के भक्तों को क्यों इस पाबंदी से गुजरना पड़ रहा है, यह समझ के परे है.

LIVE TV

Trending news