मां काली Vs कट्टरता: क्या काली पूजा से खतरे में आ जाएगा इस्लाम?

शाकिब को बांग्लादेश पुलिस ने सुरक्षा का भरोसा भी दिलाया लेकिन कट्टरपंथियों की ताकत के आगे शाकिब को अपने देश की पुलिस पर भी भरोसा नहीं हुआ और उन्होंने माफी मांग ली.

मां काली Vs कट्टरता: क्या काली पूजा से खतरे में आ जाएगा इस्लाम?

नई दिल्ली: क्या काली पूजा से इस्लाम खतरे में आ जाएगा? उस सोच को आप क्या कहेंगे जो दूसरे धर्म का सम्मान करने पर मार देना चाहते हैं, क्या किसी दूसरे धर्म के सम्मान से आपका धर्म कमजोर हो जाता है? ये सवाल इसलिए क्योंकि बांग्लादेश के मौजूदा दौर के सबसे बड़े स्टार क्रिकेटर शाकिब अल हसन को कट्टरपंथियों के सामने इसलिए सरेंडर करना पड़ा क्योंकि वो काली पूजा में गए थे और उसके बाद कट्टरपंथी उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे थे. 

शाकिब को बांग्लादेश पुलिस ने सुरक्षा का भरोसा भी दिलाया लेकिन कट्टरपंथियों की ताकत के आगे शाकिब को अपने देश की पुलिस पर भी भरोसा नहीं हुआ और उन्होंने माफी मांग ली.

शाकिब ने माफी मांगते हुए कहा, ‘तो फिर, शायद मुझे उस जगह पर नहीं जाना चाहिए था. और अगर ऐसा है तो आप मेरे खिलाफ हैं और इसके लिए मुझे बहुत खेद है. मैं यह सुनिश्चित करने की कोशिश करूंगा कि ऐसा फिर कभी ना हो.’

बता दें कि शाकिब काली पूजा के उद्घाटन के लिए कोलकाता पहुंचे थे. उन्हें मूर्ति के सामने पूजा करते हुए देखा गया था. बाद में वह बांग्लादेश लौट गए थे. 

LIVE TV

कट्टरपंथियों ने दी जान से मारने की धमकी
शाकिब ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें है कि मैं वहां समारोह का उद्घाटन करने गया था. लेकिन मैं ऐसा करने के लिए वहां नहीं गया था और ना ही मैंने वहां ऐसा कुछ किया था. आप आसानी से इसे चेक कर सकते हैं. एक जागरूक मुस्लिम होने के नाते मैं ऐसा कभी नहीं करूंगा’.

ऑलराउंडर ने कहा, ‘स्पष्ट रूप से मामला बहुत ही संवेदनशील है. मैं यह कहना चाहता हूं कि मैं खुद को एक 'गर्वित मुस्लिम' के रूप में मानता हूं और जिसका मैं पालन करता हूं. गलतियां हो सकती हैं. अगर मैंने कोई गलती की है, तो इसके लिए मैं आप सबसे माफी मांगता हूं’.

33 वर्षीय क्रिकेटर ने आगे कहा कि जब वह वहां पहुंचे थे, तो उससे पहले से ही समारोह शुरू हो चुका था और उन्होंने वहां पर केवल समय गुजारा था.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.