समय से पहले बाबा बर्फानी ने लिया 'अवतार', घर बैठे ऐसे करें सबसे पहले दर्शन

इन सभी लोगों ने दावा किया है कि यह सभी फोटो उन्होंने बाबा बर्फानी की गुफा में जाकर लिए हैं. सूत्रों के अनुसार 20 अप्रैल से 25 अप्रैल के दौरान 8 लोगों के समूह ने अमरनाथ गए थे.

समय से पहले बाबा बर्फानी ने लिया 'अवतार', घर बैठे ऐसे करें सबसे पहले दर्शन
समूह ने जानकारी देते हुए कहा कि मुख्य सड़क से गुफा तक जाने वाले मार्ग में अभी भी 10 से 15 फीट की बर्फ जमा है.

नई दिल्लीः देश में ऐसे बहुत से लोग होंगे जो बहुत ही बेसब्री के अमरनाथ की यात्रा शुरू होने का इंतजार कर रहे होंगे, लेकिन इस वर्ष की अमरनाथ की यात्रा शुरू होने में अभी करीब दो महीने से ज्यादा का समय बाकी है . बता दें कि यह बड़े ही आश्चर्य की बात है कि इस वर्ष बाबा बर्फानी ने समय से पहले ही अवतार ले लिया है. हम आपको बाबा बर्फानी के दर्शन यात्रा शुरू होने से पहले ही करा रहे हैं. आपको बता दें कि कुछ भक्तों ने जानकारी दी है कि उन्होंने अमरनाथ की गुफा में जाकर भगवान शिव के दर्शन किए हैं. उन्होंने नाम ना बताने की शर्त पर बताया कि इस वर्ष शिव लिंग का आकार काफी बड़ा है. 2019 की अमरनाथ की यात्रा 1 जुलाई से प्रारंभ हो रही है. 

72 सीटों में से पिछली बार 56 सीटों पर जीती थी BJP, कांग्रेस को मिली थीं 2 सीटें

बता दें की यह सभी फोटो उन्हीं भक्त गणों के द्वारा कुछ दिन पहले ही ली गई हैं. इन सभी लोगों ने दावा किया है कि यह सभी फोटो उन्होंने बाबा बर्फानी की गुफा में जाकर लिए हैं. सूत्रों के अनुसार 20 अप्रैल से 25 अप्रैल के दौरान 8 लोगों के समूह ने अमरनाथ गए थे. इस समूह ने गुफा में जाकर भगवान शिव के बर्फानी दर्शन किए थे. इसी समूह ने यह सभी फोटो लिए. समूह ने जानकारी देते हुए कहा कि मुख्य सड़क से गुफा तक जाने वाले मार्ग में अभी भी 10 से 15 फीट की बर्फ जमा है. 

UP LIVE: कन्नौज में तीन बूथों पर EVM खराब, मतदान के लिए डेढ़ घंटे से लोग लाइन में खड़े

उन्होंने बताया कि वहां का मौसम अभी काफी ठंड वाला है. गौरतलब है कि अमरनाथ यात्रा की पूरी जिम्मेदारी श्राइन बोर्ड की होती है और उसकी पूरी देख रेख इसी की तरफ की जाती है. आपको बता दें कि श्रायिन बोर्ड की तरफ से अभी तक कोई भी अधिकारी गुफा तक नहीं पहुंच पाया है और न ही बोर्ड की तरफ से किसी भी अधिकारी ने गुफा तक का कोई हवाई दौरा किया है. बता दें कि सूत्र ने जानकारी दी है वे पहले ऐसे लोग हैं जिन्होंने इस वर्ष अप्रैल के अंतिम सप्ताह में गुफा में जाकर बाबा बर्फानी के दर्शन किए हैं.