बंगाल: हिंसा के डर से घर छोड़ भागे थे BJP समर्थक, वापस आने पर TMC को देने पड़ रहे पैसे!

मामला बर्दवान जिले के मोंगोलकोट झिलु 2 नंबर इलाके का है. यहां के लोगों का आरोप है कि मोंगोलकोट बनपाड़ा ग्राम में वापस लौटने के लिए किसी को 50 हजार तो किसी को एक लाख तक देना पड़ रहा है. इन गरीब बीजेपी समर्थकों को अपनी गाय बेचकर नेताओं की मांग पूरी करनी पड़ रही है.

बंगाल: हिंसा के डर से घर छोड़ भागे थे BJP समर्थक, वापस आने पर TMC को देने पड़ रहे पैसे!
BJP समर्थकों के घरों में की गई तोड़फोड़.

बर्दवान: पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव तो खत्म हो गए लेकिन यहां चुनावी हिंसा का दौर अभी भी जारी है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी TMC पर लगातार BJP के समर्थकों के साथ मारपीट और गुंडागर्दी के आरोप लगते रहे हैं. यहां तक कि TMC समर्थकों पर BJP समर्थकों की हत्या के आरोप भी लगे हैं. ऐसे में जो BJP समर्थक हत्या के डर से अपना घर छोड़कर सुरक्षित जगह चले गए थे उन्हें अब अपने घर वापस आने के लिए भी TMC नेताओं को पैसे देने पड़ रहे हैं. ये आरोप BJP समर्थकों ने लगाए हैं. 

TMC नेता पर लगा पैसे एंठने का आरोप

मामला बर्दवान जिले के मोंगोलकोट झिलु 2 नंबर इलाके का है. यहां के लोगों का आरोप है कि मोंगोलकोट बनपाड़ा ग्राम में वापस लौटने के लिए किसी को 50 हजार तो किसी को एक लाख तक देना पड़ रहा है. इन गरीब बीजेपी समर्थकों को अपनी गाय बेचकर नेताओं की मांग पूरी करनी पड़ रही है. पैसे एंठने का आरोप मोंगोलकोट बनपाड़ा के तृणमूल नेता उज्जवल शेख पर लगा है. 

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच जब केंद्रीय मंत्री ने बुलाई अनोखी बैठक, कर्मचारियों से जाना परिवार का हाल  

TMC नेता ने खारिक किए आरोप

हालांकि उज्जवल शेख ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है. लेकिन बीजेपी समर्थक अपनी इस बात पर अड़े हुए हैं. चुनाव के बाद से ही हिंसा के चलते इस गांव के 40-45 परिवार अपने-अपने घरों से भाग कर सुरक्षित स्थान पर चले गए थे. 
 
BJP समर्थकों का आरोप है कि चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद से ही TMC के  लोग इन्हें फोन पर धमकियां दे रहे थे. तेज धारदार हथियारों, लाठी डंडो से इनके घरों पर हमले किए गए, आगजनी की और लूटपाट की हई. 

जिसके बाद सुकांता घोष, जोहर पल समेत 10-12 बीजेपी समर्थकों ने काटवा SDPO से आवेदन किया था, जिसके बाद मोंगोलकोट के विधायक अपूर्व चौधरी की अगुआई में गांव से भागे लोगों को वापस लाने का काम शुरू हुआ. जिन लोगों के घरों में तोड़फोड़ की गई उनसे मोंगोलकोट पुलिस ने पैसे लेकर उनके घर की मरम्मत का काम शुरू करने का आश्वासन दिया था. लेकिन आरोप है कि स्थानीय TMC नेता उज्जवल शेख के लोगों ने अपने घरों में लौट रहे इन बीजेपी समर्थकों से मोटी रकम वसूली. गांव में लौटे एक परिवार की महिला ने बताया कि उनसे पहले 10 हजार रुपए मांगे गए लेकिन, उन्होंने उनके आगे हाथ जोड़े तो उन्होंने 2500 रुपए लिए. 

दोषी को पार्टी से बाहर करेंगे: TMC

हालांकि मोंगोलकोट के विधायक अपूर्व चौधरी ने इन आरोपों को खारिज करते हुआ कि अगर यह घटना सच है तो आरोपी को पार्टी से बाहर कर दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि डरकर अगर कोई गांव से भागा है तो उसे गांव में वापस लाने की जिम्मेदारी हमारी है.

जिलाधिकारी से शिकायत करेगी BJP

वहीं, पूर्वी बर्दवान के जिले के बीजेपी नेता अनिल दत्ता का कहना है कि गांव में बीजेपी समर्थकों को अपने ही घरों में वापस आने के लिए पैसे देने पड़ रहे हैं. जो पैसे नहीं दे पा रहा उसे जबरदस्ती TMC में शामिल कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हम इस मामले की शिकायत जिला अधिकारी से करेंगे.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.