Zee Rozgar Samachar

बेंगलुरु दंगों पर NIA का कड़ा एक्शन, SDPI कार्यालयों सहित 43 जगहों की ली तलाशी

 एनआईए ने अगस्त में शहर के पुलिस थानों पर हिंसक हमले और दंगे से जुड़े मामले में पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की राजनीतिक इकाई सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के कार्यालयों समेत विभिन्न स्थानों पर बुधवार को तलाशी ली.

बेंगलुरु दंगों पर NIA का कड़ा एक्शन, SDPI कार्यालयों सहित 43 जगहों की ली तलाशी

बेंगलुरुः एनआईए ने अगस्त में शहर के पुलिस थानों पर हिंसक हमले और दंगे से जुड़े मामले में पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) की राजनीतिक इकाई सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के कार्यालयों समेत विभिन्न स्थानों पर बुधवार को तलाशी ली. एक अधिकारी ने इस बारे में बताया.

11 अगस्त को हुए थे हिंसक दंगे
राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के एक प्रवक्ता ने कहा कि 11 अगस्त को बेंगलुरु में डी जे हल्ली और के जी हल्ली थानों पर हिंसक हमले और दंगा मामले में एसडीपीआई के चार कार्यालयों समेत बेंगलुरु में 43 स्थानों पर तलाशी ली गयी. उन्होंने बताया कि मामला बड़े पैमाने पर दंगा, पुलिसकर्मियों को चोट पहुंचाने, थानों की इमारतों में सरकारी और निजी वाहनों समेत सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से जुड़ा है. साथ ही उन्होंने कहा कि दंगाई घातक हथियारों से लैस थे. 

ये भी पढ़ें-बिहार में जीत हासिल होते ही अमित शाह और जे पी नड्डा ने बंगाल फतह के लिए बनाया ये 'गेमप्‍लान'

आस-पास के इलाकों में फैली दहशत
एनआईए के प्रवक्ता ने कहा कि दंगों से आसपास के इलाकों में दहशत फैल गई और समाज में आतंक पैदा करने की मंशा से इसे अंजाम दिया गया. उन्होंने कहा कि डी जे हल्ली थाने के मामले में अब तक 124 आरोपियों और के जी हल्ली थाने के मामले में 169 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. अधिकारी ने बताया कि छानबीन के दौरान एसडीपीआई और पीएफआई से संबंधित कई भड़काऊ सामग्री मिली और तलवार, चाकू, छड़ जैसे हथियार जब्त किए गए.

उपद्रवियों ने जला दिए थे 2 थाने
बेंगलुरु में 3,000 से ज्यादा उपद्रवी लोगों ने 11 अगस्त को कांग्रेस के विधायक आर अखंड श्रीनिवास मूर्ति, उनकी बहन जयंती और दो थानों में आग लगा दी थी. कांग्रेस विधायक के भतीजे की कथित भड़काऊ पोस्ट के बाद हिंसा हुई थी. पुलिस की गोलीबारी में तीन लोग मारे गए थे जबकि हिंसा के दौरान पेट में चोट लगने से एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. हाल में कांग्रेस के पूर्व मेयर आर संपत राज को बेंगलुरु हिंसा मामले में गिरफ्तार किया गया. 

 

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.