MP: भारतीय जनता युवा मोर्चा की बुकलेट पर बवाल, नेहरू को बताया 'सत्‍ता का लालची'

इस बुकलेट में अधिकांश सवाल बीजेपी, आरएसस और केंद्र और राज्‍य की बीजेपी सरकार की नीतियों से संबंधित थे.

MP: भारतीय जनता युवा मोर्चा की बुकलेट पर बवाल, नेहरू को बताया 'सत्‍ता का लालची'

भोपाल: भारतीय जनता युवा मोर्चा(बीजेवाईएम) की एक बुकलेट में पंडित नेहरू पर आपत्तिजनक टिप्‍पणी के कारण विवादित शुरू हो गया है. दरअसल मध्‍य प्रदेश की बीजेवाईएम ने पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय पर एक 'अंतरराष्‍ट्रीय सामान्‍य ज्ञान प्रतियोगिता' का आयोजन मंगलवार को किया था. पूरे राज्‍य से 26 लाख से अधिक छात्रों ने इसमें हिस्‍सा लिया था. इसकी तैयारी के लिए 49 पेज की एक बुकलेट भाजयुमो ने जारी की थी. इसमें पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय की विचारधारा, उनके समग्र मानवता के दर्शन, धर्म और अंत्‍योदय पर चैप्‍टरों के साथ 230 बहुविकल्‍पीय प्रश्‍न थे. इन्‍हीं में से एक चैप्‍टर में देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू को सत्‍ता का लालची बताया गया.  

द इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक इस बुकलेट के चैप्‍टर अखंड भारत में लिखा है, ''पंडित दीनदयाल का स्‍पष्‍ट मत था कि भारतमाता को खंडित किए बिना भी भारत की आजादी प्राप्‍त की जा सकती है...किंतु पंडित नेहरू और जिन्‍ना के सत्‍ता लालच और अंग्रेजों की चाल में आ जाने से भारतवासियों का ये सपना पूरा नहीं हुआ और खंडित भारत को आजादी मिली.''

आनंदीबेन पटेल बनीं मध्य प्रदेश की राज्यपाल, जानें उनके राजनीतिक सफर के बारे में

इस बुकलेट में अधिकांश सवाल बीजेपी, आरएसस और केंद्र और राज्‍य की बीजेपी सरकार की नीतियों से संबंधित थे. मसलन, बीजेपी से देश का पहला प्रधानमंत्री कौन था? आरएसएस का मुख्‍यालय कहां है? कुछ ऐसे भी सवाल पूछे गए जो कांग्रेस से ताल्‍लुक रखते थे. मसलन, जब भोपाल गैस त्रासदी हुई उस वक्‍त मध्‍य प्रदेश का मुख्‍यमंत्री कौन था?

BJYM Booklet
भाजयुमो ने दीनदयाल उपाध्‍याय पर एक प्रतियोगिता का आयोजन किया

इस किताब के पेज में महात्‍मा गांधी, सरदार वल्‍लभभाई पटेल, बाल गंगाधर तिलक, रवींद्रनाथ टैगोर, बाबा साहेब अंबेडकर, रानी लक्ष्‍मीबाई, सुभाष चंद्र बोस, रानी दुर्गावती, भगत सिंह, मदन मोहन मालवीय, आरएसएस विचारक एमएस गोलवरकर, लाल बहादुर शास्‍त्री, लाला लाजपत राय और सरोजनी नायडू के फोटो हैं.

इस मसले पर सफाई देते हुए बीजेवाईएम के मध्‍य प्रदेश यूनिट के प्रमुख अभिलाष पांडे ने कहा कि बुकलेट में सत्‍ता के लालच से आशय जिन्‍ना से था, नेहरू से नहीं. एक दूसरे बीजेपी नेता ने इसको प्रूफरीडिंग की गलती करार दिया. भारतीय जनता युवा मोर्चा का कहना है कि मध्‍य प्रदेश में तकरीबन 26.5 लाख छात्रों ने इस प्रतियोगिता में हिस्‍सा लिया और 40 देशों के करीब चार लाख छात्र भी इसमें शामिल हुए.

MP: नगरीय निकाय चुनावों में BJP-कांग्रेस को 9-9 सीटें, CM शिवराज का छलका दर्द

कांग्रेस ने इस आयोजन की आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि भाजयुमो पंडित नेहरू के बारे में गलत जानकारी देकर युवाओं को गुमराह कर रही है. राज्‍य में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस नेता अजय सिंह ने कहा कि भाजपा और आरएसएस का स्‍वाधीनता संग्राम में कोई योगदान नहीं है. बीजेपी, दीनदयाल उपाध्‍याय के योगदान पर करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, जिनका राष्‍ट्र निर्माण में पंडित नेहरू की तुलना में कोई योगदान नहीं था और न ही स्‍वतंत्रता संग्राम में उनकी कोई भूमिका थी.