JNU में जाने के लिए अब 'वीजा' लेना पड़ेगा? पब्लिक के पैसे से पढ़ाई ज़रूरी या प्रदर्शन?

 देश और दुनियाभर में अभिव्यक्ति की आजादी की नुमाइंदगी का दावा करने वाले JNU कैंपस में अब वहीं के छात्रों को दूसरों की अभिव्यक्ति की आजादी अच्छी नहीं लग रही है.

JNU में जाने के लिए अब 'वीजा' लेना पड़ेगा? पब्लिक के पैसे से पढ़ाई ज़रूरी या प्रदर्शन?
JNU के छात्रों ने अब मीडिया के ख़िलाफ़ भी हल्ला बोल दिया है.

नई दिल्ली: देश और दुनियाभर में अभिव्यक्ति की आजादी की नुमाइंदगी का दावा करने वाले JNU कैंपस में अब वहीं के छात्रों को दूसरों की अभिव्यक्ति की आजादी अच्छी नहीं लग रही है. हम बात कर रहे हैं जवाहर लाल यूनिवर्सिटी (JNU) की जहां के छात्रों ने अब मीडिया के ख़िलाफ़ भी हल्ला बोल दिया है. अपनी अलग-अलग मांगों के लिए प्रदर्शन कर रहे छात्र मीडिया को कैंपस मे आने से रोक रहे हैं. 

देश के महापुरुषों का अपमान करने वाले छात्रों को किसी भी नियम और क़ानून की परवाह नहीं है. वो पुलिसवालों से भिड़ रहे हैं और कैंपस से दूर रहने की मांग कर रहे हैं. ऐसे छात्रों ने यूनिवर्सिटी परिसर में जी न्यूज की संवाददाता पूजा मक्कड़ से भी बहस की और उन्हें यूनिवर्सिटी छोड़कर जाने को कहा...ऐसे में हमारा सवाल ये कि देश तोड़ने का नारा देंगे, क्या वही JNU में रहेंगे? अभिव्यक्ति की आज़ादी पर सिर्फ 'टुकड़े गैंग' का अधिकार ?  JNU में फीस पर 'टुकड़े गैंग' का संग्राम कब तक? JNU में स्वामी विवेकानंद के 'गुनहगारों' को सज़ा कब? 'अफजल प्रेमी गैंग' को कब तक बर्दाश्त करेगा देश ?

ज़ी मीडिया संवाददाता- मसला क्या है?
JNU छात्र- मसला ये है कि आपसे कोई मतलब नहीं है
JNU छात्र- अगर आप कुछ साबित कर सकते हैं तो बात करिए, नहीं तो आप जाइए यहां से.

देखें वीडियो: 

 

 

JNU में जाने के लिए अब 'वीजा' लेना पड़ेगा?
JNU छात्र- आप यहां से न्यूज़ उठाइए और जाइए.
ज़ी मीडिया संवाददाता- मैं कहीं नहीं जा रही हूं, मैं कहीं नहीं जा रही हूं.
JNU छात्र- आपको कौन बुलाया है?
ज़ी मीडिया संवाददाता- आपने नहीं बुलाया है ना तो आप मुझे भेज भी नहीं सकते.

पब्लिक के पैसे से पढ़ाई ज़रूरी या प्रदर्शन?
JNU का वार्षिक बजट  है 556 करोड़ रुपये, JNU को प्रतिवर्ष 352 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जाती है. यानी प्रतिवर्ष हर छात्र को 4 लाख रुपये की सब्सिडी मिलती है. इस आंकड़े से आप ये समझ सकते हैं कि JNU के छात्रों को हर वर्ष कितनी सब्सिडी मिलती है। और ये सब्सिडी कहीं और से नहीं बल्कि आपके टैक्स के पैसे से ही दी जाती है. 

ये भी देखिए -