close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

WhatsApp वीडियो कॉल के दौरान होती थी हैकिंग की कोशिश, इज़रायल की कंपनी NSO पर जासूसी का आरोप

इस अटैक का नाम Pegasus है और इसे इजरायल की एजेंसी एनएसओ ग्रुप ने तैयार किया था...जांच के दौरान व्हाट्सऐप को कॉलिंग से जुड़ी एक खामी मिली थी.

WhatsApp वीडियो कॉल के दौरान होती थी हैकिंग की कोशिश, इज़रायल की कंपनी NSO पर जासूसी का आरोप

नई दिल्ली: व्हाट्सऐप (Whatsapp) की मालिक कंपनी फेसबुक ने इज़रायल की एक स्टार्टअप कंपनी एनएसओ ग्रुप पर करीब 1400 लोगों के व्हाट्सऐप एकाउंट हैक करने का आरोप लगाया है. इन लोगों में 20 अलग अलग देशों के पत्रकार, मानवाधिकार कार्यकर्ता, सरकार का विरोध करने वाले लोग और राजनयिक शामिल थे.

इस अटैक का नाम Pegasus है और इसे इजरायल की एजेंसी एनएसओ ग्रुप ने तैयार किया था.जांच के दौरान व्हाट्सऐप को कॉलिंग से जुड़ी एक खामी मिली थी. कंपनी ने कहा है कि ये एनएसओ ग्रुप की ही हरकत है....जिसने इसका फायदा उठा कर स्मार्टफोन पर अटैक किए हैं. दरअसल इस हैकिंग के तरीके के तहत हैकर्स वीडियो कॉलिंग के जरिए टार्गेट स्मार्टफोन में स्पाईवेयर लोड किया जा सकता है. इस खामी को ढूंढने वाली एजेंसी सिटीजन लैब ने कहा है कि इस तरह के स्पाइवेयर अटैक्स पत्रकारों और ह्यूमन राइट्स ऐक्टिविस्ट्स को टार्गेट करके किए जा रहे थे.

हालांकि एनएसओ ग्रुप ने कहा है कि कंपनी इसमें डायरेक्ट शामिल नहीं थी और वो सिर्फ सरकार को जानकारी मुहैय्या कराने का काम कर रही थी....NSO Group ने एक स्टेटमेंट में कहा है कि कंपनी इस इल्जाम को सही नहीं मानती है और इसके लिए लड़ाई लड़ी जाएगी.

यह भी पढ़ेंः जासूसी मामले में केंद्र सरकार ने व्हाट्सऐप से कहा, 4 नवंबर तक दाखिल करें जवाब

 

वहीं जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर आरोप लगाया है कि सरकार मोबाइल और लैंडलाइन फोन की जासूसी कर रही है. महबूबा ने कहा है कि सरकार ने जासूसी के लिए इजरायली कंपनी की मदद ली है. वहीं इस मामले में केंद्र सरकार ने व्हाट्सऐप को 4 नवंबर तक जवाब देने के लिए कहा है. महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, 'मुझे बताया गया था कि कश्मीर के वर्तमान हालातों को लेकर मोबाइल पर कुछ भी चर्चा नहीं करें. बड़े भाई कश्मीर में मोबाइल और लैंडलाइन पर नजर रखे हुए हैं. भारत सरकार इजरायल की मदद से जासूसी करा रही है.'