बिहार: कांग्रेस का बड़ा बयान, कहा- 'तेजप्रताप के गुस्से का पड़ सकता है महागठबंधन पर असर'

लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप ने सोमवार को 'लालू-राबड़ी मोर्चा' बनाने की घोषणा करते हुए कहा था कि उन्होंने तो केवल दो सीट मांगी थी, फिर भी कुछ लोगों के पेट में दर्द होने लगा.

बिहार: कांग्रेस का बड़ा बयान, कहा- 'तेजप्रताप के गुस्से का पड़ सकता है महागठबंधन पर असर'
कांग्रेस ने माना ऐसी स्थिति संवादहीनता के कारण उत्पन्न हुई है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में महागठबंधन के प्रमुख घटक आरजेडी में सीट बंटवारे को लेकर अध्यक्ष लालू प्रसाद के दोनों बेटों तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव के बीच उभरे विवाद पर कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि इसका महागठबंधन पर भी असर पड़ेगा.

कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि चुनाव के समय तेजप्रताप यादव के गुस्से का महागठबंधन पर असर पड़ेगा. उन्होंने आरजेडी को सलाह देते हुए कहा कि इस मामले को लेकर आरजेडी के बड़े नेताओं को तेजप्रताप से बात करनी चाहिए. 

 

कादरी ने कहा, "चुनाव लड़ने की सबकी इच्छा होती है. लेकिन उम्मीदवारों की घोषणा के बाद इस तरह की घटना नहीं होनी चाहिए. इसका महागठबंधन पर असर पड़ेगा. इस मामले को बातचीत के जरिए जल्द सुलझाया जाना चाहिए." 

उन्होंने माना कि ऐसी स्थिति संवादहीनता के कारण उत्पन्न हुई है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि संवाद कर के ही इसका हल भी निकाला जा सकता है. तेजप्रताप की नाराजगी पर आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा, "इस मामले को लेकर तेजप्रताप और तेजस्वी से आज बात करेंगे." 

लालू प्रसाद के बड़े बेटा तेजप्रताप ने सोमवार को 'लालू-राबड़ी मोर्चा' बनाने की घोषणा करते हुए कहा था कि उन्होंने तो केवल दो सीट मांगी थी, फिर भी कुछ लोगों के पेट में दर्द होने लगा. तेजप्रताप ने हालांकि पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी को समझदार बताते हुए कहा कि वे चापलूसों से घिरे हुए हैं. उन्होंने कहा कि चापलूस लोग इधर की बात उधर कर आरजेडी को नुकसान पहुंचा रहे हैं. 

उन्होंने मोर्चा के संबंध में कहा, "आरजेडी में निष्ठावान कार्यकर्ताओं की कोई पूछ नहीं है. यह मोर्चा ऐसे लोंगो को बढ़ाने का काम करेगी जिसने आरजेडी को सींचा है और पार्टी में मेहनत कर रहे हैं." 

तेजप्रताप ने मां राबड़ी देवी से सारण लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का आग्रह भी किया है. उन्होंने कहा, "सारण की सीट हमारे परिवार की पुश्तैनी सीट है. वहां से कैसे दूसरों को टिकट दिया जा सकता है. अगर वहां से राबड़ी देवी चुनाव नहीं लड़ती हैं, तो वह बतौर निर्दलीय चुनावी मैदान में उतरेंगे और जीतेंगे भी." आरजेडी ने सारण सीट से तेजप्रताप के ससुर चंद्रिका राय को उम्मीदवार बनाया है. (इनपुट IANS से भी)