close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: बाढ़ से अब तक 29 लोगों की मौत, अगले 24 घंटे में हो सकती है बारिश

केंद्र ने पहले से ही खतरनाक जगहों पर बचाव व राहत अभियानों के लिए राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल और राज्य आपदा अनुक्रिया बल को तैनात कर दिया है.

बिहार: बाढ़ से अब तक 29 लोगों की मौत, अगले 24 घंटे में हो सकती है बारिश
पटना के बोरिंग रोड में भी जलजमाव की स्थिति बन गई है.

पटना: बिहार (Bihar) में सोमवार को चौथे दिन बारिश कम जरूर हो गई है, जिससे आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. बाढ़ के कारण अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है. मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में बारिश की संभावना व्यक्त की और राज्य सरकार ने इसको लेकर 'रेड अलर्ट' जारी किया है.

साथ ही आपको बता दें कि बिहार सरकार ने इंडियन एयर फोर्स से राहत सामग्री और दवाइयां गिराने के लिए दो हेलीकॉप्टर की मांग की है. साथ ही बिहार सरकार ने एयर फोर्स से पानी निकालने की मशीन की भी मांग की है. गंगा, कोसी, गंडक, बागमती, महानंदा जैसी बड़ी नदियों में जलस्तर बढ़ रहा है, जिससे कई जगहों पर बांध टूटने का खतरा पैदा हो गया है. जल संसाधन विभाग ने संबंधित अधिकारियों को अलर्ट कर दिया है और जिला अधिकारियों से किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है.

 

केंद्र ने पहले से ही खतरनाक जगहों पर बचाव व राहत अभियानों के लिए राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल और राज्य आपदा अनुक्रिया बल को तैनात कर दिया है. मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार, राजधानी पटना में शनिवार से 151 मिलीमीटर की बारिश हुई है, जोकि हाल के वर्षो में एक रिकार्ड है.

पटना में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है और यहां हर जगह पानी दिखाई दे रहा है. लोगों को अपने घरों में रहने को मजबूर होना पड़ रहा है क्योंकि अधिकतर संकड़ी गलियां पानी से भरी हुई हैं. लोगों की मदद के लिए कई जगहों पर नौकाओं की तैनाती की गई है. बोरिंग रोड और एसके पुरी तक में पानी भर गया है. 

राजेंद्र नगर कॉलोनी में रहने वाले कॉलेज के छात्र संकेत झा ने कहा, 'मैंने पहली बार पानी से भरे पटना में नावों को चलते देखा है.' एक सेवानिवृत्त स्कूल शिक्षक ने आईएएनएस से यहां कहा, 'ड्रेनेज के जाम होने से पूरा पटना जलमग्न हो गया है. इससे यहां के आवासीय स्थानों पर अफरा-तफरी मच गई है और बारिश ने पटना नगर निगम की कलई खोल दी.'

बारिश की वजह से ट्रेनों की आवाजाही, सड़क परिवहन और विमान के संचालन पर असर पड़ा है. लंबी दूरी की 12 ट्रेनों और कई यात्री ट्रेनों का रद्द कर दिया गया है. उत्तर बिहार के कई जिलों में राष्ट्रीय राजमार्गो के क्षतिग्रस्त होने की रिपोर्ट है.

राज्य में कई जगह बाढ़ का पानी घरों, दुकानों और अस्पतालों में घुस गया है. रिपोर्ट के अनुसार, पानी बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के राजेंद्र नगर स्थित आवास में भी घुस गया है. इसके अलावा पानी पटना में बोरिंग रोड स्थित पूर्व मुख्यमंत्री सतेंद्र नारायण सिंह, भाजपा के सांसद राजीव प्रताप रूड़ी और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के आवास में भी घुस गया है.(इनपुट IANS से भी)