close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब पहले से ज्यादा सुरक्षित होगा पटना, स्मार्ट सिटी के तहत लगाए जाएंगे 2900 CCTV कैमरे

बढ़ती आबादी और विकसित होते पटना के बीच एक सच्चाई ये भी है कि यहां अपराध लगातार बढ़ रहा है. अपराधी वारदात करके निकल जाते हैं और उनकी पहचान होने में भी समय लग जाता है. 

अब पहले से ज्यादा सुरक्षित होगा पटना, स्मार्ट सिटी के तहत लगाए जाएंगे 2900 CCTV कैमरे
पुलिस भी मानती है कि कमांड एंड कंट्रोल सेंट्रल से अपराध पर काबू करने में आसानी होगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: बिहार के पटना अब पहले से ज्यादा सुरक्षित होगा. अगर अपराध होगा तो अपराधी नहीं बचेंगे. उनकी हर करतूत तीसरी आंख यानि सीसीटीवी में कैद होगी. राजधानी में उन्तीस सौ सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू हो गया है. इसके लिए इंटेगरेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बनाया जा रहा है. उम्मीद की जा रही है कि जब ये सेंटर काम करने लगेगा तो राजधानी पहले से ज्यादा सुरक्षित और महफूज होगी.

बढ़ती आबादी और विकसित होते पटना के बीच एक सच्चाई ये भी है कि यहां अपराध लगातार बढ़ रहा है. अपराधी वारदात करके निकल जाते हैं और उनकी पहचान होने में भी समय लग जाता है. अक्सर ये भी सुना जाता है कि अमुक जगह पर सीसीटीवी नहीं थी लिहाजा अपराधियों की पहचान में भी समय लग रहा है. लेकिन राजधानी पटना को सीसीटीवी के संकट से निजात मिलने वाला है.

 

पटना स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट्स के तहत राजधानी में 2900 सीसीटीवी अलग-अलग जगहों पर लगाए जाएंगे. पटना में अभी महत्वपूर्ण जगहों पर सीसीटीवी लगाए गए हैं लेकिन कई जगह ऐसी हैं जहां सीसीटीवी नहीं लगे हैं. पटना स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट्स के प्रबंध निदेशक अनुपम सुमन के तहत कई चरणों में पटना में सीसीटीवी लगाए जाएंगे. पहले फेज में गंगा किनारे बने 25 घाटों और रीवर फ्रंट पर सीसीटीवी लगाए जाएंगे. फिर दूसरे अहम ठिकानों पर कलेक्ट्रेट घाट से लेकर राजा घाट में सीसीटीवी लगाने का काम शुरू हो गया है.

दरअसल पटना का चयन स्मार्ट सिटी में हुआ है जिसके तहत राजधानी में सीसीटीवी लगाने की भी परियोजना है. इस परियोजना को इंटेगरेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर का नाम दिया गया है. अशोक राजपथ, डाकबंगला चौराहा, हड़ताली मोड़, गांधी मैदान, बोरिंग रोड ,कंकड़बाग,बेली रोड सहित दूसरी जगहों पर जो सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे इसकी निगरानी कमांड एंड कंट्रोल सेंटर के जरिए ही होगी.

पटना में एसएसपी ऑफिस में इंटेगरेटेट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर होगा.पटना पुलिस भी मानती है कि कमांड एंड कंट्रोल सेंट्रल से अपराध पर काबू करने में आसानी होगी. पटना में कल तक ट्रैफिक की जिम्मेदारी संभाल रहे ट्रैफिक एसपी इनचार्ज ए के पांडेय भी मानते हैं कि, कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन कम होगा और जो लोग उल्लंघन करेंगे वो पकड़े जाएंगे.

हालांकि राजधानी में पहले से ही अहम ठिकानों पर ,चौक चौराहों पर सीसीटीवी लगे हैं लेकिन बावजूद अपराधी वारदात कर फरार हो जाते हैं लेकिन अगर राजधानी में 2900 सीसीटीवी कैमरे एक साथ काम करने लगे और ईमानदारी से इसकी निगरानी हुई तो पटना देश के सुरक्षित शहरों में शामिल हो जाएगा.