किशनगंज: 5 विदेशी नागरिक इंडो-नेपाल सीमा पर हुए गिरफ्तार, पुलिस की दिखी बड़ी लापरवाही

सुखानी पुलिस ने गिरफ्तार सभी यूक्रेनी नागरिकों को शनिवार को न्यायिक हिरासत में किशनगंज जेल भेजा दिया. हालांकि, इस दौरान पुलिस की एक बड़ी लापरवाही भी देखने को मिली है. 

किशनगंज: 5 विदेशी नागरिक इंडो-नेपाल सीमा पर हुए गिरफ्तार, पुलिस की दिखी बड़ी लापरवाही
गिरफ्तार विदेशी नगारिक मोबाइल से चैटिंग करते दिखे.

किशनगंज: बिहार के किशनगंज में नेपाल सीमा के रास्ते भारतीय सीमा में अवैध रूप से प्रवेश करने पर पांच यूक्रेनी नागरिकों को एसएसबी (SSB) के जवानों ने धर दबोचा. इसके बाद एसएसबी के जावानों ने गिरफ्तार यूक्रेनी नागरिकों से पूछताछ की और फिर सभी को सुखानी पुलिस के हवाले कर दिया.

वहीं, सुखानी पुलिस ने गिरफ्तार सभी यूक्रेनी नागरिकों को शनिवार को न्यायिक हिरासत में किशनगंज जेल भेजा दिया. हालांकि, इस दौरान पुलिस की एक बड़ी लापरवाही भी देखने को मिली है. दरअसल में एसएसबी और पुलिस हिरासत में लिए जाने के बावजूद सभी गिरफ्तार विदेशी नागरिक इस दौरान मोबाइल से चैटिंग करते दिखे. ये तस्वीर आने के बाद कई सवाल भी खड़े हो रहे हैं.

कानून के जानकारों की मानें तो, किसी भी आरोपी को न्यायिक हिरासत में लेने से पहले उसका मोबाइल जब्त कर लिया जाता है. लेकिन यहां पर पुलिस की बड़ी लापरवाही दिखी. वहीं, इस मामले में पुलिस अधिकारी ने कहा कि एसएसबी ठाकुरगंज के द्वारा पांचों यूक्रेनी नागरिकों के खिलाफ सुखानी थाने में एफआईआर (FIR) दर्ज कराया गया है. पांच विदेशी नागरिक नेपाल सीमा के रास्ते भारत में मोटरसाइकिल से प्रवेश किया है.

पुलिस अधिकारी ने कहा कि पांच गिरफ्तार विदेशी नागरिकों में तीन पुरुष और दो महिलाएं शामिल है. पूछताछ में इन लोगों के पास से कोई वैध कागजात नहीं मिला हैं. इनके पास सिर्फ फोटो स्टटे वीजा था. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.