बिहार: गहरे पानी में डूबने से 6 की हुई मौत, कार्तिक पूर्णिमा में करने गए थे स्नान

बिहार में कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) के अवसर  में नदी में नहाने  के दौरान 6 लोगों की मौत हो गई. मृतकों में पाचं लड़कियां और एक पुरुष शामिल हैं. 

बिहार: गहरे पानी में डूबने से 6 की हुई मौत, कार्तिक पूर्णिमा में करने गए थे स्नान
पानी में डूबने से 6 लोगों की मौत हो गई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: बिहार के नालंदा और नवादा जिले के दो अलग-अलग घटनाओं में मंगलवार को कार्तिक पूर्णिमा (Kartik Purnima) के अवसर पर नदी में स्नान करने के दौरान गहरे पानी में डूबने से छह लोगों की मौत हो गई. मृतकों में पांच लड़कियां शामिल हैं. पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि नालंदा जिले के गिरियक थाना क्षेत्र स्थित सकरी नदी में स्नान करने गई तीन किशोरियों की डूबने से मौत हो गई. 

घटना की सूचना मिलते ही पावापुरी सहायक पुलिस थाना पुलिस मौके पर पहुंची और एसडीआरएफ (SDRF) की टीम की मदद से तीनों शवों को नदी से बाहर निकाला. 

पावापुरी सहायक थाना की प्रभारी प्रभा कुमारी ने आईएएनएस को बताया कि मृतकों में घोसरावां निवासी अजय सिंह की पुत्री अंशु कुमारी (17) और सोनम कुमारी (15) तथा दीपू सिंह की पुत्री प्रीति कुमारी (15) हैं.

उन्होंने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर यह तीनों सकरी नदी में स्नान कर रही थीं, तभी गहरे पानी में उतर गईं. वहीं, शवों को पोस्टमार्टम के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल भेज दिया गया है,

इधर, नवादा जिले के कौआकोल प्रखंड के सेखोदेवरा गांव में मंगलवार सुबह तालाब में डूबकर एक शिक्षक समेत तीन लोगों की मौत हो गई. 

पुलिस के अनुसार, सेखोदेवरा गांव निवासी हरदेव महतो की पुत्री अनुराधा कुमारी (18) और बाल्मीकी साव की पुत्री शिल्पी कुमारी (18) कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गांव के ही बड़की सूर्य मंदिर तालाब में स्नान करने गई थीं, तभी दोनों गहरे पानी में चली गईं. उन्हें बचाने के लिए इसी गांव के निवासी शिक्षक अविनाश कुमार उर्फ राकेश सिंह (40) तालाब में उतरे, लेकिन वह भी गहरे पानी में चले गए. गहरे पानी में तीनों की डूबने से मौत हो गई. 

जानकारी के मुताबिक, अविनाश जमुई के एक सरकारी स्कूल में शिक्षक के पद पर कार्यरत थे. तीनों शवों को स्थानीय लोगों की मदद से तालाब से बाहर निकाल लिया गया है.