close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चाईबासा: चलती ट्रेन में गूंजी किलकारी, महिला ने दिया बच्चे को जन्म

यह घटना अहमदाबाद-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन की है. इस ट्रेन के एसी 12 कोच में सफ़र कर रही 24 वर्षीय देविका पूर्ति को अचानक चलती ट्रेन में प्रसव पीड़ा हुई.

चाईबासा: चलती ट्रेन में गूंजी किलकारी, महिला ने दिया बच्चे को जन्म
यह घटना अहमदाबाद-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन की है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

चाईबासा: चलती ट्रेन में प्रसव पीड़ा से तड़प रही एक गर्भवती महिला की विषम परिस्थिति में मदद कर सजग रेल यात्रियों और रेल कर्मियों ने मानवता की एक नयी मिसाल कायम की है. मामला झारखंड के चक्रधरपुर रेल मंडल के भालुलाता स्टेशन का है जहां यात्रियों और रेल कर्मियों की मदद से एक गर्भवती महिला ने एक बच्चे को ट्रेन के अंदर बाथरूम में जन्म दिया. 

यह घटना अहमदाबाद-हावड़ा सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन की है. इस ट्रेन के एसी 12 कोच में सफ़र कर रही 24 वर्षीय देविका पूर्ति को अचानक चलती ट्रेन में प्रसव पीड़ा हुई. प्रसव पीड़ा से तड़पती पत्नी को देख पति चमरू हेम्ब्रम मदद के लिए गुहार लगाता नजर आया. इसी दौरान ट्रेन में मौजूद टीटीई रितेश कुमार ने अपने साथी कर्मी और आरपीएफ जवान को मौके पर बुलाया और ट्रेन को भालूलता स्टेशन में रोक दिया गया. 

टीटीई और आरपीएफ सभी ने मिलकर गर्भवती देविका की मदद की कोशिश की, ट्रेन में सफर कर रही महिलाओं से प्रसव कराने में मदद की अपील की. इसी दौरान एक डॉक्टर के कानों तक यह बात गई और उसने गर्भवती महिला की मदद की. लोगों की मदद से गर्भवती महिला यात्री का ट्रेन के शौचालय में सफलता पूर्वक प्रसव हो गया. 

प्रसव के बाद फिलहाल मां और बच्चा दोनों स्वस्थ्य हैं. दोनों को आगे इलाज के लिए बंडामुंडा रेलवे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मिली जानकारी के अनुसार गर्भवती महिला देविका अपने पति चमरू के साथ भरूच से चक्रधरपुर यात्रा कर रही थी. दोनों चक्रधरपुर के कराईकेला स्थित देवसारंगी गांव के रहने वाले हैं. (इनपुट: आनंद)