Jharkhand Elections: जामताड़ा से टिकट नहीं मिलने पर BJP के 2 नेताओं ने अपनाए बागी तेवर

जामताड़ा के पूर्व विधायक विष्णु भैया ने कहा कि मैंने निर्णय नहीं लिया है कि मैं ही चुनाव लड़ूंगा. अगर चुनाव लड़ने का निर्णय लूंगा और वैसी स्थिति आएगी तो आपको जरूर बताऊंगा. 

Jharkhand Elections: जामताड़ा से टिकट नहीं मिलने पर BJP के 2 नेताओं ने अपनाए बागी तेवर
जामताड़ा में बीजेपी नेताओं ने अपनाए बागी तेवर.

जामताड़ा: झारखंड के जामताड़ा में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की राह आसान नहीं है. टिकट नहीं मिलने से पार्टी के दो नेता बगावत पर उतर आए हैं. जामताड़ा के पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने इस्तीफा दे दिया, साथ ही तरुण गुप्ता ने भी बगावत कर दी है. ऐसा समझा जा रहा है की विष्णु प्रसाद भैया चुनावी मैदान में उतरेंगे या फिर किसी ऐसे व्यक्ति को चुनाव लड़ाएंगे जो बीजेपी उम्मीदवार को मात दे सके.

चुनाव लड़ने को लेकर अपने समर्थकों के साथ उन्होंने एक बैठक की और सलाह मशविरा भी किया. वहीं, बीजेपी के एक दूसरे कद्दावर नेता तरुण गुप्ता भी बगावत की मूड में हैं. इन दिनों तरुण गुप्ता टिकट के लिए दौड़ लगा रहे हैं. जामताड़ा में बीजेपी ने वीरेंद्र मंडल को टिकट दिया है, जिसके बाद ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई है.

हालांकि वीरेंद्र मंडल ने कहा है कि पार्टी ने जिस उम्मीद से उन्हें टिकट दिया है उस पर खरा उतरेंगे. लेकिन दो बागियों ने उनकी राह मुश्किल कर दी है. इसका फायदा कांग्रेस के उम्मीदवार इरफान अंसारी को हो सकता है.

जामताड़ा के पूर्व विधायक विष्णु भैया ने कहा कि मैंने निर्णय नहीं लिया है कि मैं ही चुनाव लड़ूंगा. अगर चुनाव लड़ने का निर्णय लूंगा और वैसी स्थिति आएगी तो आपको जरूर बताऊंगा. बीजेपी को तो बाय-बाय हमने परसों ही कर दिया है.

वहीं, बीजेपी उम्मीदावर वीरेंद्र मंडल ने कहा कि तहे दिल से आभार प्रकट करूंगा कि हमें जामताड़ा विधानसभा से बीजेपी का उम्मीदवार बनाया गया है. मैं पार्टी को विश्वास दिलाता हूं कि जिस उम्मीद के साथ हमें प्रत्याशी बनाया गया है, उस पर मैं खरा उतरूंगा.

वहीं, जामताड़ा के वर्तमान विधआयक इरफान अंसारी ने कहा है कि सभी को चुनाव लड़ने का अधिकार प्राप्त है. जिनको लड़ना है लड़े. बीजेपी के उम्मीदवार की घोषणा हो गई है. मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है. जनता पर विश्वास है. जनता ने मेरे कामों को देखा है. मुझे पहचाना है.