CM के बयान के बाद फिर बोले अजय आलोक, JDU-BJP गठबंधन पर सवाल उठाने का देख लिया नतीजा

जेडीयू नेता ने तल्ख रवैया अपनाते हुए कहा कि पवन वर्मा फॉर्मर डिप्लोमैट हैं और खुद ही सारे प्रोटोकॉल तोड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमेशा माफ ही करते हैं. दंडित नहीं करते. फिर चाहे वह  उपेन्द्र कुशवाहा हों या जीतनराम मांझी. सबको सुना और कुछ भी एक्शन नहीं लिया.

CM के बयान के बाद फिर बोले अजय आलोक, JDU-BJP गठबंधन पर सवाल उठाने का देख लिया नतीजा
जेडीयू नेता अजय आलोक ने पवन वर्मा पर फिर कसा तंज. (फाइल फोटो)

पटना: जेडीयू नेता अजय आलोक पार्टी के बोलते चेहरों में से माने जाते हैं. जेडीयू के अंदर घमासान पर अजय आलोक ने एक बार फिर से पवन वर्मा और प्रशांत किशोर को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा कि पवन वर्मा को समझना चाहिए कि अगर उनकी बात पार्टी में नहीं सुनी गई तो इसका मतलब पार्टी उनकी बात को नहीं मानना चाहती. 

जेडीयू नेता ने तल्ख रवैया अपनाते हुए कहा कि पवन वर्मा फॉर्मर डिप्लोमैट हैं और खुद ही सारे प्रोटोकॉल तोड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हमेशा माफ ही करते हैं. दंडित नहीं करते. फिर चाहे वह  उपेन्द्र कुशवाहा हों या जीतनराम मांझी. सबको सुना और कुछ भी एक्शन नहीं लिया.

पवन वर्मा के पत्र पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज सार्वजनिक रूप से बयान दे कर उन्हें कह दिया कि वह जहां जाना चाहें, जाएं, वह स्वतंत्र हैं. इस पर अजय आलोक ने कहा कि जेडीयू और बीजेपी के गठबंधन पर सवाल उठाने का नतीजा सबके सामने है. जो दल की हित में नहीं सोचते वो दल में कैसे रहेंगे ?

मालूम हो कि अजय आलोक का यह बयान जेडीयू मुखिया नीतीश कुमार के पवन वर्मा पर बयान के बाद आया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि पार्टी के अंदर कोई भी फैसले बातचीत के बाद ही और सबकी सहमति के बाद ही लिए जाते हैं. अब ऐसे में कोई पार्टी बैठक में बोलने की बजाए सार्वजनिक तौर पर बोले तो उसे कैसे समझाया जाए. उन्होंने यह भी कहा कि वह जहां जाना चाहें, जा सकते हैं, मेरी शुभकामनाएं उनके साथ हैं.