बिहार: अखिल भारतीय किसान महासभा का अनिश्चितकालीन धरना शुरू, यह है वजह...

धरना के माध्यम से खाद्य पदार्थो से एथेनल बनाने के फैसले की कड़ी निंदा की गई. किसानों ने कहा कि इससे खाद्य असुरक्षा बढ़ेगी. धरने में शामिल लोगों ने कहा कि हम किसानों के लिए मर जाएंगे

बिहार: अखिल भारतीय किसान महासभा का अनिश्चितकालीन धरना शुरू, यह है वजह...
खिल भारतीय किसान महासभा का अनिश्चितकालीन धरना शुरू. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: कृषि कानूनों (Agricultural Law) के विरोध में गुरुवार से अखिल भारतीय किसान महासभा के बैनर तले पटना में किसानों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू हो गया. इस धरने में राज्य के विभिन्न जिलों के आए किसान शामिल हुए है. पटना के गर्दनीबाग धरनास्थल पर अखिल भारतीय किसान महासभा के बिहार राज्य सचिव रामाधार सिंह, सहसचिव उमेश सिंह और जिला सचिव नारायण सिंह के नेतृत्व में धरना शुरू हुआ.

धरना में अखिल भारतीय खेत व ग्रामीण मजदूर सभा के महासचिव धीरेंद्र झा, फुलवारी विधायक गोपाल रविदास भी शामिल हुए. धरना में आए लोगों को संबोधित करते हुए रामाधार सिंह ने कहा कि जैसे-जैसे एमएसपी (MSP) पर आश्वासन बढ़ रहा है, धान के दाम गिर रहे हैं.

उन्होंने कहा है कि सरकार वार्ता तथा किसानों की समस्या को हल करने के प्रति गम्भीर नहीं है. धान के दाम गिरते जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आज राज्य में धान 900 से 1000 रुपये क्विंटल बिक रहा है. उमेश सिंह ने कहा कि गडकरी ने एमएसपी की मांग को गलत बताते हुए कहा कि यह बाजार मूल्यों से अधिक होती है.

धरना के माध्यम से खाद्य पदार्थो से एथेनल बनाने के फैसले की कड़ी निंदा की गई. किसानों ने कहा कि इससे खाद्य असुरक्षा बढ़ेगी. धरने में शामिल लोगों ने कहा कि हम किसानों के लिए मर जाएंगे, लेकिन किसान विरोधी कानून नही चलने देंगे. रामाधाार सिंह ने दावा किया कि राज्यव्यापी आह्वान पर भोजपुर, सिवान, अरवल, दरभंगा, भागलपुर, नालन्दा, गया, जहानाबाद, रोहतास, वैशाली सहित कई जिलों में भी किसान धरना शुरू हुआ है.

(इनपुट-आईएएनएस)