बिहार चुनाव: अमित शाह और चिराग पासवान की अहम मुलाकात आज, सीट शेयरिंग पर होगी चर्चा

बिहार में विधानसभा चुनाव में अभी बहुत ही कम समय बच गया है लेकिन राज्य के दोनों ही गठबंधन में सीटों शेयरिंग को लेकर स्थिति नहीं स्पष्ट हो पाई है. एनडीए में भी अब तक घटक दल कितने सीटों पर चुनाव लड़ेंगे ये स्पष्ट नहीं हो पाया है. 

बिहार चुनाव: अमित शाह और चिराग पासवान की अहम मुलाकात आज, सीट शेयरिंग पर होगी चर्चा
चिराग पासवान (Chirag Paswan) अब से थोड़ी देर में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah)से मुलाकात करेंगे. (फाइल फोटो)

नेहा कुमारी, नई दिल्ली: बिहार (Bihar) में विधानसभा चुनाव (Assembly Election) में अभी बहुत ही कम समय बच गया है लेकिन राज्य के दोनों ही गठबंधन में सीटों शेयरिंग को लेकर स्थिति नहीं स्पष्ट हो पाई है. एनडीए में भी अब तक घटक दल कितने सीटों पर चुनाव लड़ेंगे ये स्पष्ट नहीं हो पाया है. एक तरफ एलजेपी 47 से कम सीटों पर मानने के लिए तैयार नहीं है तो वहीं, बीजेपी ने 27 विधानसभा सीटो और दो एमएलसी सीट का ऑफर दिया है.

लेकिन, इस बीच बड़ा अपडेट ये है कि चिराग पासवान (Chirag Paswan) अब से थोड़ी देर में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah)से मुलाकात करेंगे. चिराग पासवान अपने आवास से अमित शाह से मुलाकात करने के लिए निकल चुके हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि अमित शाह से मुलाकात के बाद एनडीए सीट शेयरिंग को लेकर चल रही उहापोह की स्थिति खत्म हो जाएगी. 

यह भी पढ़ें - कल तक तय हो जाएगा NDA का सीट शेयरिंग मसौदा, LJP के दबाव में नहीं आएगी BJP-JDU

आपको बता दें कि एनडीए में लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) की स्थिति पर अब तक खामोश रहे चिराग पासवान ने अपनी चुप्पी तोड़ी है. उन्होंने आज कहा है कि पार्टी हमारी मां है. कोई सोच रहा है कि इसे दबा लें, तो ये संभव नहीं. मेरे पिता ने भी यही कहा है कि पार्टी का हित हम सबसे पहले देखेंगे. 

वहीं, बिहार चुनाव को लेकर बीजेपी नेताओं की राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) के आवास पर आज ही तकरीबन पांच घंटे तक बैठक चली है. इस बैठक में बीजेपी और संघ के तमाम बड़े नेता मौजूद दिखे. गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah), बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, बीएल संतोष, भूपेंद्र यादव, बिहार बीजेपी चुनाव प्रभारी देवेन्द्र फड़णवीस शामिल थे. 

इस दौरान सीट शेयरिंग फार्मूले पर चर्चा की गई. इस बात पर भी चर्चा हुई कि बीजेपी-जेडीयू बहुत ज्यादा एलजेपी के दबाव में नहीं आएगी. यह तय हुआ है कि लगभग 20 सीट LJP को देने की तैयारी है. LJP अगर ज्यादा सीटों पर अड़ी रही तो बीजेपी-जेडीयू LJP को छोड़ने को तैयार हो जाएगी.

हालांकि, बीजेपी की इस मीटिेंग के बाद अब चिराग पासवान के साथ अमित शाह खुद मुलाकात करने वाले हैं और ऐसे में इस मीटिंग का हल निकलता है इस पर सभी की निगाहें होगी.