close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गिरिडीह के इस शिक्षक के पढ़ाने की स्टाइल के फैन हो गए अमिताभ बच्चन और कुमार विश्वास

गिरिडीह के एक निजी विद्यालय के शिक्षक व डीएलएड के ट्रेनी के द्वारा गाये गए इस गीत ने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन व कवि कुमार विश्वास को ऐसा प्रभावित किया कि वे उक्त शिक्षक के फैन बन गए हैं.

गिरिडीह के इस शिक्षक के पढ़ाने की स्टाइल के फैन हो गए अमिताभ बच्चन और कुमार विश्वास
गिरिडीह के शिक्षक की अमिताभ और कुमार विश्वास ने तारीफ की है. (फाइल फोटो)

मृणाल सिन्हा/गिरिडीहः ABCD 26 अक्षरा 26सों अक्षर एलफाबेट होवे रे, नुनू रे पांचों गो भेवेल a,e,i,o,u बाकी सब कोन्सोनेंट होवे रे'' गिरिडीह के एक निजी विद्यालय के शिक्षक व डीएलएड के ट्रेनी के द्वारा गाये गए इस गीत ने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन व कवि कुमार विश्वास को ऐसा प्रभावित किया कि वे उक्त शिक्षक के फैन बन गए हैं. कवि कुमार विश्वास ने शिक्षक के गीत का एक वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर अपलोड किया है तो उसे महानायक अमिताभ बच्चन ने शेयर करते हुए प्रणाम किया है. यह शिक्षक डुमरी प्रखंड के उग्रवाद प्रभावित गुलीडाडी गांव का रहनेवाला परमेश्वर यादव है. 

परमेश्वर गांव के ही आरपी पब्लिक स्कूल में बच्चों को पढाता है तो अभी डीएलएड की ट्रेनिंग भी कर रहा है. दरअसल परमेश्वर में एक अलग सी कला है. परमेश्वर खुद के द्वारा तैयार किये गये स्थानीय भाषा के गीत को गाकर बच्चों को प्यार-प्यार से पढाता है. गीत-गीत में बच्चों को अंग्रेजी के सभी 26 अल्फाबेट व उसमें कितने भोवेल के साथ कोन्सोनेंट होता है इसकी जानकारी देता है. इसी तरह अन्य भाषा की शिक्षा भी प्रमेश्वर इसी तरह बच्चों को देता है.

बताया गया कि परमेश्वर इन दिनों डीएलएड का प्रशिक्षण ले रहा है. गिरिडीह के प्लस टू उच्च विद्यालय में उसका सेंटर पङा है. कुछ दिनों पूर्व प्रशिक्षण के दौरान प्रमेश्वर ने मौजूद प्रशिक्षु शिक्षकों व प्रशिक्षकों के सामने बच्चों को अंग्रेजी कैसे पढाया जाता है इसकी जानकारी गीत के माध्यम से दी. मधुर स्वर में गाये गये इस गीत व बीच-बीच में अंग्रेजी के अलफाबेट का विस्तार ब्लैकबोर्ड पर लिखने की कला से सभी शिक्षक प्रभावित हुए और एक शिक्षक ने इसे अपने मोबाइल में रिकार्ड कर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया. इस वीडियो पर कवि कुमार विश्वास की नजर पङी व वे इस वीडियो को अपने ट्विटर अकाउंट पर अपलोड करने से रोक नहीं सके. बाद में इस वीडियो को सदी के महानायक अमिताभा की नजर पड़ी तो उन्होंने भी इसे अपने ट्विटर पर टैग कर दिया.

वीडियो को अपलोड करने के दौरान कुमार विश्वास ने कहा कि ''काश हमें भोवेल और कोन्सोनेंट ऐसे किसी म्यूजिकल गुरूजी ने पढाए होते तो हम भी आज शशि थरूर बाबू की तरह फर्राटे मारके अंग्रेजी बोल रहे होते'' वहीं, वीडियो के अपलोड होने के बाद सुरभी दबराल नामक एक युवती ने अपने कमेंट में कहा है कि सलाम है ऐसे गुरूजनों को जो पढ़ाई को आसान और मजेदार बनाते हैं. वहीं, इस वीडियो को पांच दिनों पूर्व टैग करते हुए अमिताभ बच्चन ने प्रणाम किया है.

प्रमेश्वर का कहना है कि वह सौभाग्यशाली है कि सदी के महानायक व कवि कुमार विश्वास ने उसे प्रोत्साहित किया है. कहा कि इस तरह से गीत के माध्यम से बच्चों को जब वे पढाते हैं तो बच्चों को भी पढने में मन लगता है. कहा कि उनकी इच्छा है कि सुदूरवर्ती इलाके के बच्चे भी अंग्रेजी सीखे और खुद को आगे बढावे. गुलीडाडी गांव में गरीब परिवार से सरोकार रखनेवाला प्रमेश्वर ने इंटरमिडियट की पढाई विज्ञान से की थी. गिरिडीह कॉलेज से इंटर की पढाई करने के बाद यहीं से उन्होंने अंग्रेजी में स्नातक तक की शिक्षा ग्रहण की. किसान फागु महतो के पुत्र प्रमेश्वर की शादी 2007 में गिरिडीह के करमाटांङ निवासी सबिता देवी के साथ हुई है. दोनों के तीन बच्चें हैं. अमिताभ व कुमार विश्वास द्वारा प्रमेश्वर को प्रोत्साहित करने के बाद उसके घर के साथ-साथ गांव वाले भी काफी खुश हैं.