close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड: राजभवन के सामने लगातार 34 दिनों से हड़ताल पर बैठी हैं आंगनबाड़ी सेविका सहायिका

कई आंगनबाड़ी सेविका सहायिका की स्थिति नाजुक बनी हुई है, लेकिन आंदोलन तोड़ने के मूड में नहीं हैं.

झारखंड: राजभवन के सामने लगातार 34 दिनों से हड़ताल पर बैठी हैं आंगनबाड़ी सेविका सहायिका
रांची में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं हड़ताल पर.

अभिषेक, रांची: झारखंड की राजधानी रांची (Rnchi) में राजभवन के पास पिछले 34 दिनों से आंगनबाड़ी सेविका सहायिका का आंदोलन (Protest) जारी है. अपनी मांगों को लेकर आंगनबाड़ी सेविका सहायिका आमरण अनशन कर रही हैं. इस दौरान कई महिलाएं बीमार भी पड़ गई हैं. कल यानी मंगलवार को झारखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव आंदोलनरत महिलाओं से मिलने पहुंचे. साथ में झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) की महिला केंद्रीय अध्यक्ष महुआ माजी और कांग्रेस (Congress) के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर भी मौजूद रहे.

कई आंगनबाड़ी सेविका सहायिका की स्थिति नाजुक बनी हुई है, लेकिन आंदोलन तोड़ने के मूड में नहीं हैं. ऐसे में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर ने सरकार पर निशाना साधा और कहा कि आंगनबाड़ी सेविकाओं के साथ झारखंड सरकार पक्षपातपूर्ण रवैया अपना रही है. उनका ख्याल नहीं रख पा रही है. इतने दिनों से धरना पर बैठी हुई है, लेकिन अभी तक सरकार का आला अधिकारी सुध लेने के लिए नहीं आया है.

लाइव टीवी देखें-:

उन्होंने कहा कि अगर हमारी सरकार आती है तो आंगनबाड़ी सेविकाओं की मांगों को पूरा किया जाएगा. वहीं, जेएमएम महिला केंद्रीय अध्यक्ष महुआ माजी ने कहा कि महिलाओं के साथ रघुवर सरकार दुर्व्यवहार रही है. सिर्फ जुमला ही करती है. 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाई' का नारा देती है, लेकिन यहां पर आकर नहीं देख रही है कि किस अवस्था में महिलाएं गुजर बसर कर रही हैं.

वहीं राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता भी आंदोलनरत महिलाओं से मिलने पहुंचे. झारखंड आरजेडी युवा प्रदेश अध्यक्ष अनिल यादव और कई कार्यकर्ता ने आंदोलनकारी महिलाओं का हाल जाना. इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर सरकार आंगनबाड़ी सेविका सहायिका की मांगों को नहीं मानती है, तो आरजेडी चुप नहीं बैठेगी.

आमरण अनशन पर बैठी कई आंगनबाड़ी सेविका सहायिका भूख हड़ताल भी कर रही हैं. झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले विपक्ष आंगनबाड़ी सेविका सहायिका के आंदोलन को भूनाना चाहता है. 

-- Raushan Kumar, News Desk