close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची का एक ऐसा अस्पताल जो जानवरों के लिए है आखिरी उम्मीद, मिलती है ICU की व्यवस्था

राज्य का एक मात्र ऐसा पशु अस्पताल है जहां किसी भी जानवर का इलाज किया जाता है.

रांची का एक ऐसा अस्पताल जो जानवरों के लिए है आखिरी उम्मीद, मिलती है ICU की व्यवस्था
डायलिसिस कर जानवरों का किया जाता है इलाज.

कामरान जलीली/रांचीः राजधानी रांची के कांके स्थित पशुओं का एक ऐसा अस्पताल है. जो जानवरों के लिए अंतिम उम्मीद है. यह राज्य का एक मात्र ऐसा पशु अस्पताल है जहां किसी भी जानवर का इलाज किया जाता है. वहीं, इस अस्पताल से पढ़े डॉक्टर प्रदेश में पदस्थापित है. अस्पताल के डीन के मुताबिक जानवरों के लिए यह एक रेफरल अस्पताल है. जहां जानवरों के लिए अंतिम उम्मीद होती है. पूरे प्रदेश से जानवरों को इलाज के लिए यहां रेफर किया जाता है. और यहां बेजुबान जानवरों को हर तरह की इलाज दी जाती है. जिसके लिए आधुनिक उपकरण की भी सहायता ली जाती है.

झारखंड के एकमात्र राजधानी के कांके में स्थित एडवांस डायग्नोसिस पशु चिकित्सा महाविद्यालय में जानवारों का बेहतर इलाज किया जा रहा है. यही नहीं घायल जानवरों, पशु-पक्षियों को ओपीडी और आईसीयू जैसी सुविधा भी दी जा रही है. राजधानी रांची के कांके स्थित बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के एडवांस डायग्नोसिस पशु चिकित्सा महाविद्यालय में जानवरों का बेहतर इलाज किया जाता है. क्योंकि यहां पर जानवरों का डायग्नोसिस कर बीमारी का पता लगाया जाता है. जिसके बाद जानवरों का इलाज शुरू कर दिया जाता है.

अस्पताल में जानवरों के बेहतर इलाज के साथ-साथ ओपीडी और आईसीयू की व्यवस्था है. अस्पताल में पशु-पक्षियों का इलाज सफलतापूर्वक किया जा रहा है. अस्पताल की खासियत है यह है कि जानवरों के साथ आने वाले लोगों के रहने के लिए भी उत्तम व्यवस्था है. वहीं, नक्सल प्रभावित इलाकों में सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, पुलिस ट्रैकिंग में किये जाने वाले डॉग्स जो विस्फोटक पदार्थों के कारण बीमार हो जाते हैं, उसका भी बेहतर इलाज इस अस्पताल में किया जाता है.

विभाग के डीन के मुताबिक वर्तमान में अस्पताल में कुत्ते, गाय, खरगोश, मोर सहित कई पशु पक्षी मौजूद हैं, जिन्हें वार्ड में रखकर उनका इलाज किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि चिड़ियाघर से भी कई पशुओं को इलाज के लिए लाया गया है, क्योंकि यह अस्पताल उनके लिए आखरी उम्मीद होती है.

इंसानों की तरह इस अस्पताल में जानवरों का भी इलाज किया जाता है. झारखंड सहित आसपास के लोग इस अस्पताल में अपने पशुओं का इलाज कराने के लिए पहुंचते हैं. यह अस्पताल खासकर कृषि से संबंधित किसानों के लिए काफी फायदेमंद साबित हो रहा है. क्योंकि लोग अपने जानवरों का इलाज कराने के लिए इस अस्पताल का बेहतर सुविधा का लाभ उठा रहे हैं. वहीं अस्पताल के डॉक्टर लोगों से अपील कर रहे हैं कि जिनके भी पशुओं की तबीयत ठीक नहीं वह यहां आकर बेहतर इलाज का फायदा उठा सकते हैं.