close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: मिथिलांचल के स्टेशनों पर मैथिली में उद्घोषणा, लोगों ने किया फैसले का स्वागत

मिथिलांचल के सभी रेलवे स्टेशनों पर मैथिली भाषा में उद्घोषणा की जाएगी. संबंधित स्टेशनों को यह निर्देश भी दिया गया है कि वे यह भी सुनिश्चित करें कि मैथिली में उद्घोषणा निरंतर होता रहे.

बिहार: मिथिलांचल के स्टेशनों पर मैथिली में उद्घोषणा, लोगों ने किया फैसले का स्वागत
मिथिलांचल के सभी रेलवे स्टेशनों पर मैथिली भाषा में उद्घोषणा की जाएगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: बिहार  (Bihar)के मिथिलांचल के सभी रेलवे स्टेशनों में यात्रियों को अब मैथिली भाषा में ना केवल पूछताछ केंद्रों पर आने-जाने वाली ट्रेनों की सूचना मैथिली (Maithili) भाषा में दी जाएगी बल्कि इस स्थानीय भाषा में उद्घोषणा भी की जाएगी. फिलहाल, समस्तीपुर रेल मंडल के चार रेलवे स्टेशनों पर इसकी शुरुआत भी हो चुकी है. समस्तीपुर रेल मंडल के वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक (डीसीएम) बिरेंद्र कुमार ने बुधवार को मीडिया को बताया कि दरभंगा, जयनगर, मधुबनी और सकरी स्टेशनों पर हिन्दी के साथ-साथ मैथिली में भी उद्घोषणा की जा रही है. उन्होंने कहा कि इसके लिए सभी स्टेशन अधीक्षकों व स्टेशन मास्टरों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं. 

उन्होंने कहा कि आगे मिथिलांचल के सभी रेलवे स्टेशनों पर मैथिली भाषा में उद्घोषणा की जाएगी. संबंधित स्टेशनों को यह निर्देश भी दिया गया है कि वे यह भी सुनिश्चित करें कि मैथिली में उद्घोषणा निरंतर होता रहे. कुमार ने कहा कि बहुत दिनों से इस क्षेत्र के लोगों की यह मांग की थी, जिसे पूरा किया गया है, भविष्य में अगर अन्य स्टेशनों पर भी ऐसी उद्घोषणा करने की मांग उठेगी, तो उस पर विचार किया जाएगा. 

 

इधर, रेलवे के इस फैसले को लेकर मिथिलांचल के लोगों ने स्वागत किया है. विद्यापति सेवा संस्थान के महासचिव डॉ. बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने कहा कि इन स्टेशनों पर पूछताछ से संबंधित जानकारी की उद्घोषणा मैथिली में किए जाने संबंधित विद्यापति सेवा संस्थान की चिर लंबित मांग के पूरा होने से इन स्टेशनों से अपने गंतव्य के लिए आगमन व प्रस्थान करने वाले यात्रियों को काफी सहूलियत होगी. 

इधर, संस्थान से जुड़े और साहित्यकार मणिकांत झा ने कहा कि यह फैसला स्वागत योग्य है, परंतु यह स्थाई हो इसे भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए. उन्होंने बताया कि यह फैसला मिथिलावासियों के लिए गर्व की बात है. 

झा ने कहा कि ऐसी सुविधा मिथिलांचल के सभी स्टेशनों पर होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र से बड़ी संख्या में मजदूर वर्ग के लोग अन्य क्षेत्रों में जाते हैं, जिन्हें क्षेत्रीय भाषा के अलावा अन्य भाषा का ज्ञान नहीं होता है, जिससे काफी सुविधा होगी. (इनपुट IANS से भी)