close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना: जहरीली हुई पटना की आबोहवा, AQI पहुंचा 426, लोगों का जीना हुआ मुश्किल

 बिहार पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने रिपोर्ट जारी कर बताया कि पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI)  मंगलवार दोपहर बारह बजे तक 426 पहुंच गया. पटना में प्रदूषण का ये स्तर अब तक का सबसे ज्यादा खतरनाक लेवल है

पटना: जहरीली हुई पटना की आबोहवा, AQI पहुंचा 426, लोगों का जीना हुआ मुश्किल
खतरनाक स्तर पर पहुंचा पटना में एयर क्वालिटी इंडेक्स.(Screen Grab)

पटना: पटना में बढ़ते प्रदूषण के कारण यहां की आबोहवा लगातार जहरीली होती जा रही है. मंगलवार को भी पटना का प्रदूषण स्तर खतरनाक लेवल पर पहुंच गया. बिहार पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड ने रिपोर्ट जारी कर बताया कि पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI)  मंगलवार दोपहर बारह बजे तक 426 पहुंच गया. 

जानकारी के मुताबिक, पटना में प्रदूषण का ये स्तर अबतक का सबसे ज्यादा खतरनाक लेवल है. आपको बता दें कि सोमवार को पटना के एयर क्वालिटी इंडेक्स मे कुछ सुधार हुआ था. रिपोर्ट के मुताबिक, 4 नवंबर को पटना में एयर क्वालिटी इंडेक्स 382 था, लेकिन आज काफी तेजी से पटना में प्रदूषण का लेवल बढ़ा है.

इससे पहले पटना में बढ़ते प्रदूषण स्तर को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने सोमवार को अपने आवास पर हाई लेवल मीटिंग बुलाई थी. इस बैठक में राज्य के डिप्टी सीएम सुशील मोदी (Sushil Modi), मुख्य सचिव, पटना के डीएम सहित तमाम वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे.

नीतीश सरकार ने इस बैठक में फैसला किया कि राज्य में 15 साल पुराने सरकारी वाहन अब नहीं चलेंगे. साथ ही निजी वाहनों को प्रदूषण चेक करने के बाद ही चलाने की इजाजत मिलेगी. वहीं, सरकार ने बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर 15 वर्ष पुराने व्यावसायिक वाहनों को पटना में चलने पर प्रतिबंध करने का फैसला किया. साथ ही सरकार ने पराली चलाने पर सख्ती करने का भी फैसला किया है. 

आपको बता दें कि 27 अक्टूबर के बाद से ही पटना की आबोहवा लगातार प्रदूषित होती जा रही है. 27 अक्टूबर के पहले पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स 100 के करीब रहता था लेकिन, इसके बाद से प्रदूषण का स्तर 400 के करीब बढ़कर पहुंच गया. 

पटना में बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों को काफी परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है. लोग घर से बाहर मास्क पहनकर निकल रहे हैं. साथ ही प्रदूषण के कारण लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ का भी सामना करना पड़ रहा है.