close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

NDA : डगमगाए पासवान तो अरुण जेटली ने संभाला मोर्चा, रामविलास ने भी जताया आभार

कुशवाहा का एनडीए से बाहर जाते ही चिराग पासवान ने दोनों सीटों पर अपना दावा ठोक कर बीजेपी के लिए असहज स्थिति उत्पन्न कर दिया.

NDA : डगमगाए पासवान तो अरुण जेटली ने संभाला मोर्चा, रामविलास ने भी जताया आभार
रूठे पासवान को मनाने के लिए अरुण जेटली ने मोर्चा संभाला. (फाइल फोटो)

पटना : बीते दो दिनों से मचे सियासी घमासान के बीच बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दलों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर घोषणा हो चुकी है. 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) जहां 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है वहीं, छह लोकसभा सीटों पर लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) उम्मीदवार उतारेगी. इसमें बिहार बीजेपी के प्रभारी रह चुके केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की महत्वपूर्ण भूमिका रही है.

एनडीए से उपेंद्र कुशवाहा के एलग होने के बाद लोजपा ने उन दो सीटों पर भी दावा ठोक दिया जो रालोसपा के लिए खाली रखी गई थी. इससे पहले सीट शेयरिंग के तय आंकड़ों के मुताबिक, बीजेपी-जोडीयू 17-17, लोजपा को चार लोकसभा और एक राज्यसभा. वहीं, आरएलएसपी को दो सीटें दी जा रही थी. कुशवाहा को दो सीट नगावार गुजरा और उन्होंने एनडीए अपनी राह अलग कर ली.

कुशवाहा का एनडीए से बाहर जाते ही चिराग पासवान ने दोनों सीटों पर अपना दावा ठोक कर बीजेपी के लिए असहज स्थिति उत्पन्न कर दिया. क्योंकि लोकसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी किसी भी हाल में लोजपा को साथ रखना चाहती थी. रूठे पासवान को मनाने के लिए अरुण जेटली ने मोर्चा संभाला. उन्होंने दो-दो बार चिराग पासवान के साथ बैठक की.

जिस वक्त सीट शेयरिंग का ऐलान हो रहा था तो मीडिया को संबोधित करते हुए लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान ने अरुण जेटली को विशेष तौर पर याद किया और उन्हें धन्यवाद कहा. पासवान ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और नीतीश कुमार के प्रति भी अपना आभार प्रकट किया.