close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड में चुनाव लड़ेगी MIM, ओवैसी बोले, 'हम मजलिस का झंडा गाड़ने आए हैं'

झारखंड में चुनावी बयान बहने लगी है. असुद्दीन ओवैसी की पार्टी MIM इस बार चुनावी दंगल में उतरना चाहती है.

झारखंड में चुनाव लड़ेगी MIM, ओवैसी बोले, 'हम मजलिस का झंडा गाड़ने आए हैं'
ओवैसी ने अपने संबोधन में विरोधी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा.

रांची: झारखंड में चुनावी बयान बहने लगी है. असुद्दीन ओवैसी की पार्टी MIM इस बार चुनावी दंगल में उतरना चाहती है. जनता की नब्ज टटोलने के मकसद से ओवैसी ने मंगलवार को झारखंड में एक जनसभा की. यह जनसभा राजधानी रांची के बरियातू पहाड़ी मैदान में हुई. 

ओवैसी ने अपने संबोधन में विरोधी पार्टियों पर जमकर निशाना साधा. ओवैसी ने कहा, "हमारी एकता को कोई कमजोर नहीं कर सकता. अब हम लोग एकजुट हो चुके हैं. मेरे भाइयों जब तुम उठ खड़े होगे, तब इंसाफ मिलेगा. अब भीख नहीं चाहिए, अब तो बराबरी चाहिए. मजलिस का साथ दो, इंसाफ के लिए हम लड़ रहे हैं."

ओवैसी ने कहा कि यह मजलिस आपकी है. सभी पार्टियों ने आपको छला है. किसी भी पार्टी ने आपको हक देने का काम नहीं किया. आज का यह भीड़ हमारे लिए फख्र है. आज हम शहीद शेख भिखारी और जयपाल सिंह मुंडा की धरती झारखंड में खड़े हैं. वह जयपाल सिंह मुंडा जिन्होंने हिंदुस्तान में आदिवासियों का सर ऊंचा किया. जिनकी कुर्बानी ने झारखंड को एक अलग पहचान दी. जयपाल सिंह मुंडा, शहीद शेख भिखारी बाबा भीमराव अंबेडकर के ख्वाब को हम पूरा करेंगे." ओवैसी ने कहा, "झारखंड आना आखरी नहीं बल्कि यह तो शुरुआत है. मैं झारखंड में आता रहूंगा." 

LIVE टीवी:

  
प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर नहीं आए ओवैसी 
मीडियाकर्मियों को आमंत्रित कर प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए बुलाया गया. जब मीडिया के लोग पहुंचे तो वहां पर सिर्फ पार्टी के कार्यकर्ता बैठे थे. किसी तरह समझा कर उन लोगों को खाली कराया गया. 2 घंटे के बाद बोला गया कि प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं होगी, आप लोग चले जाएं. झारखंड राज्य से पार्टी का अध्यक्ष कौन है, ज्यादातर लोग नहीं जानते. इतना ही नहीं, प्रोग्राम में मीडियाकर्मियों के साथ धक्का-मुक्की की गई. मीडिया गैलरी तक नहीं बनाई गई. वॉलिंटियर और पुलिसकर्मियों ने मीडिया के साथ गलत व्यवहार किया.