गौमूत्र से तैयार हो रही हैं कई प्रकार की दवाईयां, कैंसर का भी होता है इलाज : अश्विनी चौबे
Advertisement
trendingNow0/india/bihar-jharkhand/bihar571405

गौमूत्र से तैयार हो रही हैं कई प्रकार की दवाईयां, कैंसर का भी होता है इलाज : अश्विनी चौबे

स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय  प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना यानी आयुष्मान भारत के तहत कैंसर के इलाज को शामिल करने पर विचार कर रही है.

अश्विनी चौबे ने गौमूत्र से दवाई बनाने की बात कही है.

पटना : मोदी सरकार में स्वास्थ्य राज्य मंत्री और बक्सर लोकसभा सीट से सांसद अश्विनी चौबे ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय आयुष मंत्रालय काफी गंभीरतापूर्वक गौमूत्र से दवाई बनाने और कैंसर का इलाज करने पर काम कर रही है. उन्होंने यह भी कहा कि सरकार गाय के संरक्षण और संवर्धन के लिए काम कर रही है.

मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'विभिन्न तरह की दवाईयों में गौमूत्र का इस्तेमाल किया जाता है. यहां तक कि गौमूत्र का इस्तेमाल कैंसर जैसी बिमारियों के इलाज में भी किया जा रहा है.' साथ ही उन्होंने कहा इसमें देशी गायों के गौमूत्र का ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है.

अश्विनी चौबे ने ये बातें तमिलनाडु के कोयम्बटूर में कही. यहां उन्होंने कहा, 'डायबिटीज और कैंसर जैसी बीमारी पूरे विश्व के लिए आज चैलेंज बन गई गई है. हम यह तो दावा नहीं कर सकते हैं कि इसे हम जड़ से मिटा देंगे, लेकिन हम इसे कंट्रोल कर सकते हैं. भारत सरकार ने 2030 तक इसके लिए समय सीमा निर्धारित किया है.'

स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय  प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना यानी आयुष्मान भारत के तहत कैंसर के इलाज को शामिल करने पर विचार कर रही है.

उन्होंने बताया कि आयुर्वेद, योगा व प्राकृति चिकित्सा, यूनानी, सिद्धा एवं होम्योपैथी (आयुष) मंत्रालय वैकल्पिक दवाईयों पर रिसर्च करती रहती है.