close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गया: आतंकी से पूछताछ के बाद ATS ने की छापेमारी, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

एजाज का सहयोगी मो.रजा फरार है. पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार वो किराए के मकान में रहता था.

गया: आतंकी से पूछताछ के बाद ATS ने की छापेमारी, भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद
26 अगस्त को एजाज अहमद की गिरफ्तारी के बाद से मो. रजा फरार हो गया है.

गया: बिहार के गया से जेएमबी आतंकी संगठन का भारत प्रमुख एजाज अहमद की गिरफ्तारी के बाद बिहार एटीएस और गया पुलिस ने एजाज के निशानदेही पर छापेमारी की. छापेमारी में टाइमर घड़ी, अमोनियम नाइट्रेट, जिलेटिन रॉड, तार सहित विस्फोटक बनाने का उपकरण बरामद किया गया. 

वहीं, एजाज का सहयोगी मो.रजा फरार है. पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार वो किराए के मकान में रहता था. 26 अगस्त को एजाज अहमद की गिरफ्तारी के बाद से मो. रजा फरार हो गया है. वो फेरी कर कपड़ा बेचने का काम किया करता था.

 

वहीं, आतंकी एजाज अहमद और मो रजा जहां से कपड़े लिया करता था वहां भी पुलिस ने छापेमारी की. छापेमारी के दौरान अब्दुल आहद से भी पूछताछ किया गया. अब्दुल आहद ने मीडिया से बातचीत में बताया कि कल पुलिस हमारे पास 2 बजे आई थी और बोल रहा था कि फेरीवाला आतंकी का जासूस निकला. हमलोगों का उससे कोई संबंध नहीं है.

अब्दुल आहद हमारे पास से माल ले रहा था. मैं यहां पर दुकान खोल कर रखा हुआ हूं और हमारे पास बहुत सारे ग्राहक आते हैं. पुलिस यहां पर आरिफ अंसारी को खोजने के लिए आई थी मगर आरिफ अंसारी नही मिला. वह बहुत दिन पहले ही माल लेकर निकल गया था. पुलिस ने मुझे एक घंटे तक पूछताछ के बाद छोड़ दिया.

आपको बता दें कि  बिहार का गया एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है. उसकी वजह हैं आतंकी और उनके स्लीपर सेल्स. गया के अलग अलग क्षेत्रों के अल्पसंख्यक मुहल्ले में रहकर आतंकी संगठन को चलाने का काम किया जा रहा है. अभी तक कई आतंकी संगठन के कई आतंकियों को देश के दूसरे राज्यों की खुफिया पुलिस व एटीएस की टीम ने गिरफ्तार किया है.

बीते 26 अगस्त को गया के बुनियादगंज थाना क्षेत्र के पठान टोली में गुप्त सूचना के आधार पर बंगाल की एटीएस व एसटीएफ की टीम ने एक घर पर धावा बोल दिया. इसके बाद यहां घंटों तक छानबीन की गई. इस दौरान संदिग्ध आतंकी मोहम्मद एजाज अहमद को गिरफ्तार किया, जो कि नाम बदलकर यहां रह रहा था.