close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आतंकियों के निशाने पर बिहार, 10 जिलों में हमले को लेकर अलर्ट जारी

पटना, नालंदा, जहानाबाद, गया, रोहतास, कैमूर, बक्सर, आरा, औरंगाबाद और मुजफ्फरपुर जिलों के एसपी और रेल एसपी को एटीएस मुख्यालय की ओर से जारी किया गया है.

आतंकियों के निशाने पर बिहार, 10 जिलों में हमले को लेकर अलर्ट जारी
आतंकी हमले को लेकर खुफिया विभाग ने जारी किया अलर्ट.

पटना: त्योहार के सीजन में आतंकी बिहार में बड़ी तबाही मचा सकते हैं. बिहार के दस जिलों पर आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है. पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों के एसपी और रेल एसपी को अलर्ट जारी किया है. पटना में भी बड़े पैमाने पर चेकिंग अभियान चलाए जा रहे हैं.

आतंकियों के लिए सेफ शेल्टर रहा बिहार इन दिनों आतंकियों के निशाने पर है. खुफिया विभाग ने इसके जरिये अलर्ट भी जारी किया है. दीपावली के समय या फिर छठ के आसपास ये हमले हो सकते हैं. आतंकी संगठन के आत्मघाती दस्ते की ओर से घटना को अंजाम देने की सूचना है. ऐसे में बिहार के लगभग दस जिलों की पुलिस को अलर्ट रहने का निर्देश मुख्यालय की ओर से दिया गया है.

पटना, नालंदा, जहानाबाद, गया, रोहतास, कैमूर, बक्सर, आरा, औरंगाबाद और मुजफ्फरपुर जिलों के एसपी और रेल एसपी को एटीएस मुख्यालय की ओर से जारी किया गया है.

अलर्ट को लेकर पटना की सड़कों पर भी बड़े पैमाने पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है. पुलिस गाड़ियों की बड़े पैमाने पर चेकिंग कर रही है. खासतौर पर बाइक सवार यात्रियों के बैग को खंगाला जा रहा है. हलांकि जांच में लगे पदाधिकारियों से जब जांच का मकसद पूछा गया तो वे खुलकर कुछ भी बताने के लिए तैयार नहीं दिखे. इधर डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने भी आतंकी अलर्ट पर कुछ भी खुलकर बोलने से इंकार किया है. गुप्तेश्वर पाण्डेय ने इसे रुटीन अलर्ट प्रक्रिया बताया है.

गौरतलब है कि खुफिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, आतंकी संगठन के आतंकी आत्मघाती दस्ते के रूप में भी हमला कर सकते हैं. उनके निशाने पर आम जगहों के अलावा पुलिस सुरक्षा बलों के कैंप, ट्रेनिंग कैंप, भर्ती केन्द्र हो सकते हैं. आतंकी किसी पुलिस या प्रशासनिक अधिकारी को अगवा कर उनके जरिये भी हमला कर सकते हैं.