close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची पहुंचे ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा, भारत को भी बताया वर्ल्ड कप का दावेदार

आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा और एमआरएफ के कोच, जेएससीए के खिलाड़ियों की बॉलिंग क्षमता परखकर उन्हें बेहतर करने की टिप्स दे रहे हैं. ताकि इनमें से कुछ खिलाड़ियों को एमआरएफ पेस फाउंडेशन में नियमित ट्रेनिंग दी जा सके.

रांची पहुंचे ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा, भारत को भी बताया वर्ल्ड कप का दावेदार
ग्लेन मैक्ग्रा ने महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ की.

रांची: झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन और एमआरएफ पेस फाउंडेशन की तरफ से राजधानी रांची में दो दिवसीय पेस बॉलिंग क्लीनिक का आयोजन किया गया है जिसमें पूर्व आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा और एमआरएफ के कोच, जेएससीए के खिलाड़ियों की बॉलिंग क्षमता परखकर उन्हें बेहतर करने की टिप्स दे रहे हैं. ताकि इनमें से कुछ खिलाड़ियों को एमआरएफ पेस फाउंडेशन में नियमित ट्रेनिंग दी जा सके.

राज्य के युवा खिलाड़ियों पर पूर्व आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज का कहना है कि यहां के खिलाड़ियों में नेचुरल टैलेंट है लेकिन बॉलर्स को टैलेंट और साथ फिटनेस की भी ज़रूरत है. उन्होंने कहा कि उनका मकसद है कि यहां से ज्यादा खिलाड़ियों को वह एमआरएफ पेस फाउंडेशन में ले जाएं और उन्हें नियमित ट्रेनिंग दें ताकि आने वाले दिनों में वो भारतीय टीम का एक बेहतर गेंदबाज बन सके.

वहीं, वर्ल्ड कप 2019 के प्रबल दावेदार के तौर पर मैक्ग्रा ने ऑस्ट्रेलियाई टीम को ही मजबूत बताया है लेकिन भारतीय टीम पर उनका कहना है कि अगर भारतीय टीम प्रेशर हैंडल कर लेती है तो रिजल्ट पॉजिटिव होगा. वहीं उन्होंने टॉप 3 टीमों में ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड और भारतीय टीम को शामिल रखा है.

इधर धोनी के संन्यास के मामले पर ग्लेन का कहना है कि एमएस सन्यास कब लेंगे यह उनसे बेहतर कोई नहीं जानता लेकिन धोनी का जितना एक्सपीरियंस है उससे युवा खिलाड़ियों को काफी ज्यादा फायदा मिल रहा है और महेंद्र सिंह धोनी का कोई विकल्प फिलहाल नजर नहीं आता. उन्होंने कहा कि धोनी एक क्लास के प्लेयर हैं क्योंकि उन्हें प्रेशर को हैंडल करना का हुनर आता है और वह एक संयम वाले खिलाड़ी हैं जबकि विराट कोहली के मामले पर मैग्राथ ने कहा कि विराट कोहली एक एनर्जीटिक खिलाड़ी हैं लेकिन उनमें संयम की कमी है.

बहरहाल, एमआरएस फाउंडेशन ने भारतीय टीम को कई खिलाड़ी दिए हैं वहीं अब जेएससीए के प्रयास से एमआरएस के अधिकारी शहर में खिलाड़ियों को ढूंढ रहे हैं जिन्हें एमआरएफ पेस फाउंडेशन में ट्रेनिंग दी जाएगी इसी को लेकर पूर्व आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ग्लेन मैकग्राथ दो दिवसीय रांची के दौरे पर हैं