झारखंड: झुंड से बिछड़ा हाथी का बच्चा कुएं में गिरा, लोगों ने किया रेस्क्यू

झारखंड के खूंटी में जंगल में अपने झुंड से बिछड़ा हाथी का बच्चा रात के अंधेरे में एक कुएं में गिर गया था. रातभर बाहर आने की लाख जद्दोजहद करता रहा, लेकिन गहरे कुएं की दीवार को फांदना उसके लिए नामुमकिन था.

झारखंड: झुंड से बिछड़ा हाथी का बच्चा कुएं में गिरा, लोगों ने किया रेस्क्यू
झुंड से बिछड़ा हाथी का बच्चा रात के अंधेरे में एक कुएं में गिर गया था.

खूंटी: झारखंड (Jharkhand) के खूंटी में जंगल में अपने झुंड से बिछड़ा हाथी का बच्चा रात के अंधेरे में एक कुएं में गिर गया था. रातभर बाहर आने की लाख जद्दोजहद करता रहा, लेकिन गहरे कुएं की दीवार को फांदना उसके लिए नामुमकिन था.

सुबह होते ही जब लोगों की नजर हाथी पर गई तो वहां लोगों का मजमा लग गया. वन विभाग को खबर दी गई और फिर शुरू हुआ नन्हे हाथी का रेस्क्यू ऑपरेशन. वन विभाग ने जेसीबी की मदद से कुएं की दीवार को एक तरफ से तोड़ा और हाथी के बाहर निकलने का रास्ता बना दिया. 

अब हाथी को खुद ही बाहर आना था. वो लगातार कोशिश करता रहा. खूब हिम्मत करता और नाकाम रहने पर निढाल होकर गिर जाता. लेकिन कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती की तर्ज पर हाथी ने हिम्मत नहीं हारी और लगा रहा. गांव वाले भी उसकी हिम्मत बढ़ाते रहे. 

कई घंटों की मशक्कत के बाद आखिरकार हाथी का बच्चा बाहर निकल ही आया और जंगल की तरफ भाग निकला. ये वाकया झारखंड के खूंटी जिले के तोरपा क्षेत्र के उकड़ीमाड़ी बाजारटांड़ गांव का है. बताया जाता है कि कुंएं के ऊपर चबूतरा नहीं होने की वजह से ऐसी घटनाएं यहां होती रहती हैं. हाथी जंगल लौट गया, लेकिन लोगों को लगन, हिम्मत और कभी हौसला ना खोने का सबक सिखा गया.