बिहार: जमाखोरी पर लिया गया एक्शन, घरेलू सामान के दाम बढ़ने की शिकायत पर हुई जांच

बिहार सरकार ने भी 31 मार्च तक राज्य को पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया है. केंद्र और राज्य सरकार कोरोना वायरस संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. 

बिहार: जमाखोरी पर लिया गया एक्शन, घरेलू सामान के दाम बढ़ने की शिकायत पर हुई जांच
आईएएस विशाल राज ने खुद दल बल के साथ थोक विक्रेताओं की जांच की. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पटना: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित किया है. इसके पहले बिहार सरकार ने भी 31 मार्च तक राज्य को पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया है. केंद्र और राज्य सरकार कोरोना वायरस संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. 

वहीं, आज बगहा में भी व्यापारियों को जमाखोरी पर प्रशासन का डंडा चला है.  आलू-प्याज समेत जरूरी घरेलू सामग्रियों के दर में इजाफा की शिकायत पर जांच की गई है. आईएएस विशाल राज ने खुद दल बल के साथ मीना बाजार स्थित थोक विक्रेताओं की जांच की. 

साथ ही उन्होंने जमाखोरी और दर बढ़ाने वालों को भी हिदायत दी. उन्होंने कहा कि किसी भी हालत में आलू-प्याज समेत अन्य आवश्यक सामग्री के दाम नहीं बढेंगे. दरअसल ज़ी मीडिया में खबर चलाई गई थी कि पिछले दो दिनों से बेतहाशा वृद्धि कर मंडी में व्यापारी बिक्री कर रहे थे. 

साथ ही आईएएस विशाल ने लोगों से शादी समारोह समेत भीड़-भाड़ से दूर रहने की अपील की. पुलिस प्रशासन नेलोगों से लॉकडाउन के नियमों के पालन करने की भी अपील की.