झारखंड में हड़ताल पर गया बालू ट्रक एसोसिएशन, भूतत्व विभाग के आदेश के हैं खिलाफ

सरकारी आदेश को जनविरोधी बताते हुए आदेश के खिलाफ बालू ट्रक ओनर एसोसिएशन ने अनोखे अंदाज में बेमियादी हड़ताल की घोषणा कर अपने वाहनों को मैदान में खड़ा कर दिया. वहीं, एसोसिएशन ने स्पष्ट किया है कि जब तक सरकारी आदेश वापस नहीं होता या फिर उनके लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की जाती तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा औ

झारखंड में हड़ताल पर गया बालू ट्रक एसोसिएशन, भूतत्व विभाग के आदेश के हैं खिलाफ
खान एवं भूतत्व विभाग के आदेश के खिलाफ के बालू ट्रक ओनर एसोसिएशन बेमियादी हड़ताल पर चला गया है.

रांची: खनिज संपदा से भरपूर झारखंड में एक बार फिर बालू का मामला गर्म होने लगा है. दरअसल खान एवं भूतत्व विभाग के आदेश के खिलाफ के बालू ट्रक ओनर एसोसिएशन बेमियादी हड़ताल पर चला गया है.

नामकुम स्थित दुर्गा सोरेन चौक के समीप  इस मैदान में  सैकड़ों की संख्या में  खड़े डंपर हाईवा और ट्रक राज्य में बालू को लेकर आये सरकारी आदेश के खिलाफ विद्रोह जाहिर कर रहा है. दरअसल खान एवं भूतत्व विभाग एनबीटी का हवाला देते हुए सिर्फ ट्रैक्टर से ही बालू का परिवहन करने का आदेश जारी किया गया है.

सरकारी आदेश को जनविरोधी बताते हुए आदेश के खिलाफ बालू ट्रक ओनर एसोसिएशन ने अनोखे अंदाज में बेमियादी हड़ताल की घोषणा कर अपने वाहनों को मैदान में खड़ा कर दिया. वहीं, एसोसिएशन ने स्पष्ट किया है कि जब तक सरकारी आदेश वापस नहीं होता या फिर उनके लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की जाती तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा और बावजूद उसके विभाग कोई रास्ता नहीं निकलता है तो आंदोलन उग्र हो जाएगा.

सरकार द्वारा निकाले गए आदेश के बाद लॉकडाउन में परेशान हुए चालक और वाहन मालिकों के सामने भुखमरी की नौबत आने लगी है चालकों का कहना है कि 20 सालों से वह बालू में ट्रक चला रहे हैं और लॉकडाउन ने उनकी हालत खस्ता कर दी थी लेकिन जब स्तिथि बेहतर हो रही है तो इस सरकारी आदेश ने उनके सामने खाने की आफत.

बहरहाल बालू व्यवसायियों ने आंदोलन का बिगुल फूंक दिया है अब ऐसे में देखना होगा कि कि इस मामले पर सरकार का क्या कुछ रुख रहता है