प्रदेश कांग्रेस ऑफिस में प्रदीप-बंधु का हुआ जोरदार स्वागत, कहा- जिम्मेदारियों का करेंगे पालन

प्रदीप यादव ने कहा कि जिस वक्त महात्मा गांधी कांग्रेस के संरक्षक थे, उस वक्त संगठन में उनका भी विरोध होता था. सुभाष चंद्र बोस ने उनके विरोध में आकर ही चुनाव लड़ा था.

प्रदेश कांग्रेस ऑफिस में प्रदीप-बंधु का हुआ जोरदार स्वागत, कहा- जिम्मेदारियों का करेंगे पालन
प्रदीप-बंधु का प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में जोरदार स्वागत हुआ.

रांची: जेवीएम (JVM) से निष्कासित होने के बाद कांग्रेस (Congress) में शामिल हुए विधायक बंधु तिर्की और प्रदीप यादव का गुरुवार को झारखंड कांग्रेस द्वारा जोरदार स्वागत किया गया. कांग्रेस के स्वागत से गदगद बंधु तिर्की ने यह साफ कर दिया कि वो पार्टी में किसी पद के लिए नहीं आए हैं. वहीं, प्रदीप यादव ने खुद को लेकर कांग्रेस पार्टी में जारी नाराजगी पर महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) और सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की मिसाल दे दी.

प्रदीप यादव ने कहा कि जिस वक्त महात्मा गांधी कांग्रेस के संरक्षक थे, उस वक्त संगठन में उनका भी विरोध होता था. सुभाष चंद्र बोस ने उनके विरोध में आकर ही चुनाव लड़ा था. उन्होंने कहा कि जहां तानाशाह नहीं होता है, वहां विचारों में भिन्नता होती है. कांग्रेस बीजेपी जैसी नहीं है.

प्रदीप यादव ने खुद और इरफान अंसारी पर महात्मा गांधी और सुभाष चंद्र बोस की मिसाल देते हुए बीजेपी को ही आड़े हाथों ले लिया. उन्होंने कहा कि सबको खुश नहीं रखा जा सकता है, लेकिन उनकी वह सबकी पसंद बनने का प्रयास करेंगे.

वहीं, नए घर में मिले शानदार स्वागत से गदगद विधायक बंधु तिर्की ने एक बार फिर यह साफ कर दिया कि वह किसी पद के लिए पार्टी में नहीं आए हैं. उन्होंने कहा कि पार्टी जो जिम्मेदारी देगी उसका बखूबी से पालन किया जाएगा.

गौरतलब है कि जेवीएम से निष्कासित होने वाले विधायक बंधु तिर्की और प्रदीप यादव अब पूरी तरह से कांग्रेस के हो गए हैं. हाल ही में केंद्रीय नेतृत्व के समक्ष कांग्रेस का दामन थामने वाले इन दोनों विधायकों का प्रदेश कांग्रेस द्वारा जोरदार स्वागत किया गया. अपने सैकड़ों समर्थकों और ढोल नगाड़ों के साथ कांग्रेस दफ्तर पहुंचे इन दोनों विधायकों का महानगर के नेताओं ने फूल माला पहनाकर स्वागत किया, लेकिन प्रदेश कांग्रेस के बड़े नेताओं का इस समारोह से नदारद रहना कुछ सवाल खड़े करने के लिए काफी था.