close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

देवघर: FIR के बाद गांव छोड़ने को मजबुर हुए किसान, ये है बड़ी वजह

 किसानों की मांग सिर्फ इतनी है कि बैंक फसल कटने तक का इंतजार किया जाए, ताकि उसे बेचकर ये कर्जा चुका सकें.

देवघर: FIR के बाद गांव छोड़ने को मजबुर हुए किसान, ये है बड़ी वजह
बैंक ने बिना किसी नोटिस के किसानों पर एफआईआर दर्ज करा दी है

देवघर: सरकार ने किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए कई कार्य किए हैं. इससे किसान भी जागरूक हुए और अच्छी खेती करने के लिए बैंकों से केसीसी लोन भी लिया. लेकिन लगातार 3 सालों से सूखा पड़ने के कारण इनकी फसल ठीक नहीं हो पाई और इस कारण ये लोन की रकम नहीं लौट पाए.

लोन की रकम न लौटा पाने के कारण बैंक ने बिना किसी नोटिस के इन पर एफआईआर दर्ज करा दिया है. झारखंड के देवघर के टाभा घाट पंचायत के खड़ हरा गांव के तकरीबन 40 लोगों पर मुकदमा किया गया है. जिसके बाद किसान गांव छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं.

इन किसानों की मांग सिर्फ इतनी है कि बैंक फसल कटने तक का इंतजार किया जाए, ताकि उसे बेचकर ये कर्जा चुका सकें.

असम में अच्छी खेती करने के लिए किसानों ने एसबीआई से 20000 से लेकर 50000 रुपए तक लोन लिया. लेकिन मौसम की बेरुखी के कारण फसल नहीं हो पाइ और इस कारण वो लोन की रकम नहीं चुका पाए हैं.

किसानों का कहना है कि इन्हें सिर्फ 4 महीने का समय दिया जाए क्योंकि इस बार फसल अच्छी होने की उम्मीद है. इस बाबात किसानों ने डीसी और बैंक को पत्र भी लिखा है. लेकिन कोई सुनवाई होती नहीं दिख रही है.