झारखंड: बोकारो में बैंक तक पहुंच रहा कोरोना का संक्रमण, दो शाखाएं हुई बंद

बोकारो जिले के बेरमों में अब कोरोना का संक्रमण बैंक तक पहुंच रहा है. एसबीआई ललपनिया और तेनुघाट शाखाओं के एक-एक कर्मी की जांच रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन में भी हड़कंप मच गया है. 

झारखंड: बोकारो में बैंक तक पहुंच रहा कोरोना का संक्रमण, दो शाखाएं हुई बंद
बोकारो जिले के बेरमों में अब कोरोना का संक्रमण बैंक तक पहुंच रहा है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

बोकारो: झारखंड  (Jharkhand) के बोकारो जिले के बेरमों में अब कोरोना का संक्रमण बैंक तक पहुंच रहा है. एसबीआई ललपनिया और तेनुघाट शाखाओं के एक-एक कर्मी की जांच रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन में भी हड़कंप मच गया है. 

बोकारो डीसी राजेश सिंह से एहतियातन दोनों शाखाओं सहित और दोनों शाखाओं में स्थित एटीएम को 72  घंटे तक बंद करने का निर्देश दिया है. इसके बाद दोनों बैंकों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है.

वहीं दोनों शाखाओं से संबंधित कुल 33 कर्मियों का का सैंपल अनुमंडल अस्पताल तेनुघाट व टीटीपीएस एसबीआई शाखा के परिसर में मेडिकल टीम द्वारा लिया जा रहा है. अचानक बैंक इस तरह बंद से ग्राहकों की परेशानी जरूर बढ़ गई लेकिन वो भी कोरोना संक्रमण पाए जाने के बाद बैंक के बंद करने से संतुष्ट दिखे.

अगर झारखंड की बात करें तो झारखंड में कोरोना मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है. गुरुवार को कोरोना के राज्य में 517 नए मरीज मिले हैं जिसके बाद कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ कर अब 26938 हो गई है. वहीं, 754 लोगों के ठीक होने की सूचना मिली है. अब तक राज्य में 17320 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं और 286 लोगों की मौत हो गई है. 

झारखंड में फिलहाल एक्टिव केस 9332 हैं. रांची में 5323 में 2703 , बोकारो में 734 में 549, हजारीबाग में 1207 में 873, धनबाद में 1916 में 1463, गिरिडीह में 1224 में 1064, सिमडेगा में 827 में 647, कोडरमा में 918 में 667, देवघर में 981 में 831, पलामू में 1267 में 867, गढ़वा में 794 में 699, गोड्डा में 669 में 606, जामताड़ा में 214 में 159, दुमका में 283 में 172, पूर्वी सिंहभूम में 4623 में 2137 लोग ठीक हुए हैं.

लातेहार में 646 में 430, लोहरदगा में 431 में 307, रामगढ़ में 872 में 550, पश्चिमी सिंहभूम 836 में 625, गुमला में 632 में 394, सरायकेला में 682 में 353, चतरा में 486 में 358, पाकुड़ में 393 में 307, खूंटी में 503 में 297, साहेबगंज में 479 में 267 लोग ठीक हुए हैं.