close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार-झारखंड: अपनी मांगों को लेकर दो दिनों की हड़ताल पर बैंककर्मी, नहीं हो सकेगा जरूरी काम

राजधानी रांची सहित राज्यभर की 3800 बैंक शाखाओं में आज से दो दिन का हड़ताल की वजह से बंद रहेगी. ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कॉम्पिटिशन के आह्वान पर यह हड़ताल बुलाया गया है.

बिहार-झारखंड: अपनी मांगों को लेकर दो दिनों की हड़ताल पर बैंककर्मी, नहीं हो सकेगा जरूरी काम
सरकार नहीं मानी तो बैंककर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के मुड में हैं. (फाइल फोटो)

रांची: राजधानी रांची सहित राज्यभर की 3800 बैंक शाखाएं आज से दो दिन का हड़ताल की वजह से बंद रहेगी. ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कॉम्पिटिशन के आह्वान पर यह हड़ताल बुलाया गया है. हड़ताल कर ये बैंक अधिकारी बैंक के सामने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. 

यह बैंकों का राष्ट्रव्यापी हड़ताल है और इन बैंक अधिकारियों का मांग है सभी बैंक अधिकारियों को केंद्र सरकार की अनेक कार्यकालों के समान वेतन मिले और चार्टर ऑफ डिमांड के अनुरूप वेतन समझौता बैंक का वर्किंग डे छ: दिन की जगह पांच दिन किया जाए. साथ ही नई पेंशन नीति को बदलकर पुरानी व्यवस्था को लागू की जाए.

बैंक अधिकारियों की ये भी मांग है कि क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के अधिकारों को राष्ट्रीयकृत बैंकों की तर्ज पर पेंशन एवं एवं अन्य लाभ दिया जाए. बिहार में भी अगले दो दिनों तक सभी बैंक शाखाएं हड़ताल की वजह से बंद रहेंगी. इससे आम लोगों का बैंक का काम रूकेगा. 

कर्मियो की मांग है कि वे पूरानी पेंशन नीति को लागू करे इसके अलावे इनका मांग यह भी है कि सातवें वेतनमान में अशुद्धियों को दूर किया जाए. लंबे अरसे से संविदा पर काम कर रहे कर्मियो को परमानेंट सेवा की जाए. इनकी कुल 10 मांगे है. सांकेतिक हड़ताल के बाबजूद भी यदि मोदी सरकार नहीं मानी तो बैंककर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के मुड में हैं.