भागलपुर: पति के इलाज के दौरान वार्ड ब्वॉय ने पत्नी की इज्जत पर डाला था हाथ, हुआ गिरफ्तार

Bihar News: भागलपुर के ग्लोकल अस्पताल में कोरोना मरीज पति का इलाज कराने के लिए गई महिला के साथ यौन उत्पीड़न किए जाने का मामला सामने आया है.  

भागलपुर: पति के इलाज के दौरान वार्ड ब्वॉय ने पत्नी की इज्जत पर डाला था हाथ, हुआ गिरफ्तार
ग्लोकल अस्पताल में छेड़छाड़ के मामले में एक अस्पताल कर्मचारी गिरफ्तार

Bhagalpur: भागलपुर के एक बड़े प्राइवेट अस्पताल ग्लोकल हॉस्पिटल (Glocal Hospital) में अपने पति का इलाज कराने आई एक महिला के साथ यौन उत्पीड़न किए जाने का मामला अब बढ़ता ही जा रहा है.

इस मामले को लेकर सोशल मीडिया (Social Media) पर तेजी से एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो वायरल (Viral Video) होने के बाद स्थानीय प्रशासन ने इस मामले में एक्शन लिया है. साथ ही जिला के बड़े पुलिस अधिकारी ने आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर बयान जारी किया है. 

दरअसल, बीते दिनों एक कोरोना मरीज की मौत के बाद मृतक की पत्नी ने पटना में मीडिया के सामने एक बड़ा खुलासा किया था. महिला ने दावा किया था कि ग्लोकल अस्पताल में उसके पति की मौत इलाज में लापरवाही की वजह से हुई है और साथ ही महिला ने रोते हुए यह भी कहा कि उसके बीमार पति के सामने उसके साथ अस्पताल में छेड़खानी हुई थी.

इस मामले में अस्पताल में मरीज को ऑक्सीजन देने के बदले पैसा और जिस्म की मांग करना अब डॉक्टरों व अस्पताल प्रशासन के लोगों को मंहगा पड़ता नजर आ रहा है. वायरल वीडियो में महिला द्वारा लगाए गए आरोपों की सच्चाई जानने के लिए भागलपुर (Bhagalpur Coronavirus) की एसएसपी एवं भागलपुर के सिटी एसपी पूरन झा ग्लोकल अस्पताल पहुंचे.

इस मामले में अस्पताल के मैनेजर ने कहा कि आरोपी वार्ड ब्वॉय ज्योति कुमार को बर्खास्त कर दिया गया है. इधर, आरोपी ज्योति ने खुद को बेकसूर बताया है. सिटी एसपी ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है जल्द ही दोषी पर कार्रवाई भी होगी. गौरतलब है कि दो दिन पहले मामला सामने आते ही जाप प्रमुख पप्पू यादव ने भी महिला के वीडियो को ट्वीट किया था.

 

ये भी पढ़ें- बिहार: सदन में अपना कुर्ता फाड़ने वाले MLA अजित सरकार, जिनकी हत्या मामले में जेल गए थे पप्पू यादव

महिला का आरोप है कि पहले डॉक्टरों ने महिला के पेसेंट को सही तरीके से इलाज नहीं किया बोलने पर डांट फटकार लगाईं फिर उनके कॉमपाउंडर के द्वारा छेड़खानी की गई. पेसेंट की हालत बिगड़ती देख महिला अपने मरीज को पटना लेकर चली गई थी. बताया जा रहा है की वहां भी महिला के पति का इलाज नहीं हुआ.

कहीं न कहीं यह मामला बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल रही है. वहीं, इस मामले नाराजगी जाहिर करते हुए भागलपुर के विधायक अजीत शर्मा ने नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि ऐसे डॉक्टरों के भरोसा सरकार बिहार को कोरोना से निजात नहीं दिला सकते हैं. इस मामले में जो दोषी डॉक्टर एवं कंपाउंडर है उनके ऊपर तुरंत करवाई करें.

(इनपुट- अजय कुमार)