बिहिया महिला को निर्वस्त्र करने का मामला, सभी 20 आरोपियों को कोर्ट ने सुनाई सजा

बिहार के भोजपुर जिले के बिहिया में कथित रूप से एक महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने और उसकी पिटाई के मामले में सभी आरोपियों को कोर्ट ने सजा सुना दी है.

बिहिया महिला को निर्वस्त्र करने का मामला, सभी 20 आरोपियों को कोर्ट ने सुनाई सजा
आरा में महिला से अमानवीय व्यवहार किया गया था. (फाइल फोटो)

आराः बिहार के भोजपुर जिले के बिहिया में कथित रूप से एक महिला को निर्वस्त्र कर घुमाने और उसकी पिटाई के मामले में सभी आरोपियों को कोर्ट ने सजा सुना दी है. इससे पहले 28 नवंबर को कोर्ट ने सभी दोषियों को करार देते हुए सजा पर फैसला सुरक्षित रख लिया था. आपको बता दें कि इस मामले में 20 लोगों को आरोपी बनाया गया था.

कोर्ट ने मामले के 20 आरोपियों को सजा सुना दी है. जिसमें 5 आरोपियों को 7-7 साल की सजा सुनाई गई है, साथ ही 10-10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है. वहीं, बाकी 15 आरोपियों को कोर्ट ने 2-2 साल की सजा सुनाई है और 2-2 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. आरा सिविल कोर्ट के एडीजे-1 की अदालत ने सजा का ऐलान किया है.

आपको बता दें कि कोर्ट ने 5 आरोपियों को महिला को निर्वस्त्र करने के आरोप में दोषी करार दिया था. जबकि, 15 आरोपियों को आगजनी, तोड़-फोड़ और दंगा फैलाने के मामले में दोषी करार दिया गया था. आरोपियों को इसी आरोप में कोर्ट ने सजा सुनाई है.

गौरतलब है कि महिला को निर्वस्त्र करने और उसकी पिटाई करने के मामले में पुलिस ने 20 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने कुछ आरोपियों को सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तार किया था. जबकि कुछ आरोपियों को उनकी निशानदेही पर गिरफ्तार किया था.

इस मामले में 8 पुलिसकर्मियों को भी कर्तव्य के प्रति लापरवाही के आरोप में पुलिस मुख्यालय ने निलंबित कर दिया था.

गौरतलब है कि बिहिया में रेलवे स्टेशन के पास पटरी पर विमलेश शाह नाम के युवक का शव बरामद हुआ था. युवक के हत्या में शामिल होने के संदेह पर भीड़ ने एक महिला को निर्वस्त्र कर सड़क पर पीटा था. यहां ग्रामीणों और स्थानीय लोगों ने महिला को सड़क पर घुमाया था. साथ ही महिला का घर सहित कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया था.

घटना के बाद शहर में खूब उत्पात मचाया गया. पुलिस के पहुंचने के बाद फायरिंग भी की गई थी. साथ ही वहां से गुजरने वाली ट्रेनों पर पथराव किया था.