close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

किशनगंज उपचुनाव: स्वीटी सिंह का प्रचार करने पहुंचे बिहार BJP अध्यक्ष, कांग्रेस पर साधा निशाना

बीजेपी बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए मां-बेटे के साथ-साथ खानदानी पार्टी कहा. उन्होंने कांग्रेस को ऊंचे खानदान, पैसेवालों की पार्टी बताते हुए कहा कि इस पार्टी में आम लोगों के लिए कोई जगह नहीं है. 

किशनगंज उपचुनाव: स्वीटी सिंह का प्रचार करने पहुंचे बिहार BJP अध्यक्ष, कांग्रेस पर साधा निशाना
संजय जायसवाल ने कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए मां-बेटे के साथ-साथ खानदानी पार्टी कहा.

किशनगंज: बिहार में किशनगंज विधानसभा उपचुनाव में बीजेपी प्रत्याशी स्वीटी सिंह के पक्ष में चुनाव प्रचार करने बोली. बीजेपी बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने कांग्रेस पार्टी को आड़े हाथों लेते हुए मां-बेटे के साथ-साथ खानदानी पार्टी कहा. उन्होंने कांग्रेस को ऊंचे खानदान, पैसेवालों की पार्टी बताते हुए कहा कि इस पार्टी में आम लोगों के लिए कोई जगह नहीं है. इस पार्टी के लिए आम आदमी सिर्फ वोट बैंक है.

वहीं, प्रदेश अध्यक्ष ने एनआरसी पर कहा कि भारत में रहनेवाला हर भारतीय का भारत में पूरा हक है, जितना हक हिन्दूओं का है उतना ही मुस्लिम और सिख इसाइयों का भी है. लेकिन विदेशों में रहनेवालों का भारत में कोई हक नहीं है.

उन्होंने कांग्रेस पर इशारों ही इशारों में निशाना साधते हुए कहा कि कुछ लोग एनआरसी के नाम पर राजनीतिक रोटी सेंक कर इसे सांप्रदायिक रूप देना चाहते हैं जो गलत है. उन्होंने असम का उदाहरण देते हुए कहा कि असम की जनता की एनआरसी लागू करने की मांग थी. तो असम में लागू किया गया लेकिन बिहार में अगर लागू करना है तो राज्य और केंद्र सरकार बैठकर फैसला लेगी.

जायसवाल ने पत्रकारों को संबोधित कर कहा कि केंद्र सरकार के विकास कार्य जैसे उद्योग, पूल और रास्ट्रीय राज मार्ग के निर्माण से संबंधित अन्य 60 से अधिक लाभकारी योजनाओं को लेकर जनता से वोट मांग रहे हैं. उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की सभी योजनाओं किसी धर्म विशेष को देखकर नहीं बनाया गया है बल्कि इसका फायदा सभी धर्म विशेष को मिलता है. 

प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि भारतीय जनता पार्टी सिर्फ दो जाति को मानता है एक है अमीर तो दूसरा गरीब. उन्होंने बताया कि अमीरों को सरकार हर तरह की सुविधा देगी उसके लिए सरकार टैक्स लेती है. उस टैक्स के पैसे से गरीबों के कल्याणकारी योजनाओं के लिए लगाया जाता है.