बिहारः BMP 5 की महिला कॉन्स्टेबल के साथ छेड़खानी, सूबेदार सस्पेंड

बिहार की राजधानी पटना में महिला कॉन्स्टेबल से छेड़खानी का मामला सामने आया है. छेड़खानी के विरोध में अन्य महिला कॉन्स्टेबल भी समर्थन में उतर कर जमकर हंगामा किया है.

बिहारः BMP 5 की महिला कॉन्स्टेबल के साथ छेड़खानी, सूबेदार सस्पेंड
बीएमपी 5 की महिला कॉन्स्टेबल से छेड़खानी का मामला.

पटनाः बिहार की राजधानी पटना में महिला कॉन्स्टेबल से छेड़खानी का मामला सामने आया है. छेड़खानी के विरोध में अन्य महिला कॉन्स्टेबल भी समर्थन में उतर कर जमकर हंगामा किया है. महिला कॉन्स्टेबल पटना स्थित कमांडेंट कार्यालय के बाहर जमकर हंगामा किया है. वहीं, डीजीपी के आश्वासन के बाद महिला कॉन्स्टेबल के प्रदर्शन को शांत किया गया.

दरअसल, पटना स्थित बीएमपी 5 के एक ट्रेनी महिला कॉन्स्टेबल ने सूबेदार पर छेड़खाना करने का आरोप लगाया है. आरोप के मुताबिक सूबेदार ने महिला कॉन्स्टेबल के साथ बंद कमरे में छेड़खानी की है. महिला कॉन्स्टेबल के आरोप के बाद उनकी साथी अन्य महिला कॉन्स्टेबल भी समर्थन में आ गई.

महिला कॉन्स्टेबल ने सूबेदार शंभू शरण राठौर पर छेड़खानी का आरोप लगाया है. जिसके बाद महिला कॉन्स्टेबलों ने आरोपी के गिरफ्तारी को लेकर घंटो कमांडेंट कार्यालय के बाहर हंगामा किया. महिला कॉन्स्टेबल का आरोप है कि सूबेदार शंभू शरण ने बंद कमरे में उसके साथ छेड़खानी की है.

इस घटना के बाद बीएमपी कार्यालय में घंटों हंगामा किया गया. वहीं, आरोपी पर कार्रवाई करने की मांग को लेकर महिला कॉन्स्टेबल धरने पर बैठ गई. उन्होंने अधिकारियों से जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है. अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह धरने पर ही बैठी रहेंगी.

वहीं, हांगमा बढ़ता देख मौके पर पहुचे बीएमपी 5 के एआईजी अरबिंद ठाकुर ने हांगमा कर रहे महिला कॉन्स्टेबल को शांत कराने की कोशिश की, लेकिन वे मानने को तैयार नहीं थे. जब एआईजी अरबिंद ठाकुर ने बताया की डीजीपी के निर्देश के बाद आरोपी को शम्भू शरण राठौर को निलंबित कर दिया गया. 

साथ ही उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी के बाद विभागीय करवाई कर बर्खास्त किया जाएगा. और जेल भेजा जाएगा तो उनकी बात सुन कर महिला कॉन्स्टेबलों ने हंगामा खत्म किया.