कैबिनेट फैसलाः नीतीश कुमार ने लगाई 12 एजेंडों पर मुहर, 11-20 फरवरी तक चलेगा बजट सत्र

बिहार कैबिनेट बैठक में 12 एजेंडों पर मुहर लगाई गई है. वहीं, बजट सत्र को लेकर भी फैसला लिया गया है. 

कैबिनेट फैसलाः नीतीश कुमार ने लगाई 12 एजेंडों पर मुहर, 11-20 फरवरी तक चलेगा बजट सत्र
नीतीश कुमार ने कैबिनेट बैठक में 12 एजेंडों पर मुहर लगाई है. (फाइल फोटो)

पटनाः सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बिहार की कैबिनेट बैठक की गई. बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में 12 एजेंडों पर मुहर लगाई गई है. वहीं, बजट सत्र को लेकर भी फैसला लिया गया है. खबरों के अनुसार बिहार विधानमंडल में बजट सत्र 10 फरवरी से 20 फरवरी तक चलेगा. वहीं, कई अहम मुद्दों पर कैबिनेट का फैसला लिया गया है.

कैबिनेट बैठक में बजट सत्र को लेकर कहा गया है कि 11 से 20 फरवरी तक सत्र आयोजित किया जाएगा. माना जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सत्र को छोटा रखा गया है. जिसमें कुल 7 बैठकें की जाएगी. इस दौरान वित्तीय वर्ष 2018-19 का सप्लीमेंट्री बजट पेश किया जाएगा.

नीतीश कैबिनेट की मीटिंग में कुल 12 एजेंडों पर मुहर लगी. कैबिनेट ने भूदान भूमि वितरण जांच आयोग में पदों का सृजन किये जाने पर सहमति दी है. इसके अलावे सिंचाई भवन का जीर्णोद्धार होगा. जीर्णोद्धार पर कुल 32.98 करोड़ की लागत खर्च आएगी.

बांका जिला के नवादा बाजार में सहायक थाना बनेगा. पुलिस आधुनिकीकरण के लिए 49.83 करोड़ स्वीकृत और खर्च करने और हरी झंडी दी है. कैबिनेट ने नालन्दा और बांका में निजी सोलर प्लांट लगाने पर सहमति दी है.
बांका में 10 मेगावाट पावर का प्लांट निजी कम्पनी लगाएगी जिसपर कम्पनी 71.55 करोड़ की राशि खर्च करेंगी.

वहीं, नालंदा में 15 मेगावाट के सोलर प्लांट पर निजी कम्पनी 107.33 करोड़ खर्च करेंगी. भवन निर्माण में गुणवत्ता जांच करने के लिए नई प्रणाली बनेगी. निदेशक समेत कुल 91 पदों का सृजन किया गया है. गया के तत्कालीन सहायक निबंधन IG अजय कृष्ण मिश्र  सेवा से बर्खास्त कर दिए गए है. बताया जा रहा है कि आय से अधिक मामले में उन्हें बर्खास्त किया गया है.