close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जेडीयू नेता श्याम रजक पर मुकदमा दर्ज, जातीय विद्वेष फैलाने का आरोप

जेडीयू नेता श्याम रजक पर जातीय विद्वेष फैलाने के मामले में मुकदमा दर्ज कराया गया है. 

जेडीयू नेता श्याम रजक पर मुकदमा दर्ज, जातीय विद्वेष फैलाने का आरोप
जेडीयू नेता श्याम रजक पर मुकदमा दर्ज किया गया है. (फाइल फोटो)

बेगूसरायः जेडीयू नेता श्याम रजक पर जातीय विद्वेष फैलाने के मामले में मुकदमा दर्ज कराया गया है. बेगूसराय सीजेएम पंकज मिश्रा की अदालत में मुफस्सिल थाना क्षेत्र के इनयार निवासी राहुल कुमार ने जातीय विद्वेष फैलाने का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया है.

राहुल कुमार ने श्याम रजक पर ग्रामीणों को भद्दी गालियां देने और मारपीट करने सामान छीन लेने रुपए वाला बैग छीन लेने तथा NH 130 के निकट मकानों में घुसकर महिलाओं से दुर्व्यवहार करने व करवाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है. सीजेएम पंकज मिश्रा ने इस मुकदमे को जांच साक्ष्य एवं निष्पादन  हेतु  न्यायिक दंडाधिकारी रवि रंजन की अदालत में स्थानांतरित किया है.

मुकदमे में विधायक से अनुसूचित जाति जनजाति समिति बिहार विधानसभा पटना के सभापति श्याम रजक सहयोगी विद्या गांधी तथा अंगरक्षक अखिलेश शर्मा सहित एस्कॉर्ट पार्टी के जवानों को भी आरोपित किया है.

दायर मुकदमा के अनुसार, 6 सितंबर को NH 130 के इंडिया ढाला के समीप एससी-एसटी समर्थकों द्वारा बंद किया गया था. इसी दौरान शाम 4:30 बजे विधायक श्याम रजक अपने काफिले के साथ वहां पहुंचकर सड़क के दोनों किनारे लोगों को गाली गलोज करते हुए अपने अंगरक्षक व एस्कॉर्ट पार्टी के जवानों को फायरिंग करने का आदेश दिया. जिसका विरोध सूचक राहुल कुमार ने किया तो अंगरक्षक ने उस पर फायरिंग कर दी.

Bihar Case filed against JDU leader Shyam Rajak in Begusarai

बताया गया है कि श्याम रजक अपने अंगरक्षक जवानों के साथ मिलकर राहुल कुमार का बैग छीन लिया जिसमें LIC में जमा कराने के लिए 28000 रुपये थे. विधायक के आदेश पर गार्ड और एस्कॉर्ट पार्टी जवानों द्वारा अगल-बगल के मकानों में घुसकर महिलाओं से भी दुर्व्यवहार किया गया. और घर में रखे सामानों को तोड़-फोड़ कर दिया गया. घटना की अन्य ग्रामीणों द्वारा स्थानीय थाने को दी गई लेकिन विधायक के प्रभाव के कारण कोई कांड अंकित नहीं किया गया.

आपको बता दें कि एससी-एसटी द्वारा भारत बंद के दौरान खबर आई थी कि श्याम रजक के काफिले पर हमला किया गया है. बंद समर्थकों ने उनके गाड़ियों पर हमला कर वाहनों के शीशे फोड डाले. हमले में श्याम रजक को चोट लगने की बात भी कही गई. वहीं, जान बचाने के लिए उन्हें बलिया थाना में शरण लेनी पड़ी. श्याम रजक ने इस मामले में केस भी दर्ज कराया था.

अब श्याम रजक पर ही फायरिंग करने और जातीय विद्वेष फैलाने का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया गया है.