CM नीतीश का तेजश्वी पर हमला, कहा- 'खुद कहां रहता है भाग करके, इसका कोई ठिकाना नहीं है'

 बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Chunav 2020) के मद्देनजर शुरू हुई बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है. नेता प्रतिपक्ष तेजश्वी यादव (Tejashwi Yadav) लगातार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमलावर हैं.

CM नीतीश का तेजश्वी पर हमला, कहा- 'खुद कहां रहता है भाग करके, इसका कोई ठिकाना नहीं है'
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लंबे समय बाद अपनी चुप्पी तोड़ते हुए तेजश्वी यादव के आरोपों पर पलटवार किया है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Chunav 2020) के मद्देनजर शुरू हुई बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है. नेता प्रतिपक्ष तेजश्वी यादव (Tejashwi Yadav) लगातार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर हमलावर हैं. इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लंबे समय बाद अपनी चुप्पी तोड़ते हुए तेजश्वी यादव के आरोपों पर पलटवार किया है.

नीतीश कुमार ने तेजश्वी यादव पर कहा, 'हमको कहता है बाहर नहीं निकलते हैं. लॉकडाउन लागू है, पूरे देश में कहा जा रहा है कि नहीं निकला. प्रतिदिन एक-एक चीज की समीक्षा, सारा काम कर रहे हैं. खुद कहां रहता है भाग करके इसका कोई ठिकाना नहीं है, पार्टी के लोग को भी नहीं पता है !'

दरअसल, मंगलवार को तेजस्वी यादव ने ट्वीट करके लिखा, 'आदरणीय मुख्यमंत्री जी, इस संकटकाल में स्वास्थ्य व्यवस्था, ग़रीबों-श्रमिकों की वस्तुस्थिति जानने और राज्यवासियों की हौसलाअफजाई करने विगत 84 दिन से आप घर से बाहर नहीं निकले है. आप ऐसा करने वाले देश के अकेले CM है. अगर कोई डर है तो आगे-आगे मैं आपके साथ चलूंगा. लेकिन अब तो निकलिए.'

तेजस्वी ने दूसरे ट्वीट में लिखा, 'देशवासी कह रहे है कि बिहार के CM को डर लगता है. सरकारी मशीनरी और संसाधनों का दुरूपयोग करते हुए आप प्रतिदिन घंटो अपने नेताओं से वीडियो कॉफ्रेंस करते है, लेकिन आम जनता को आपने पूछा तक नहीं. क्वारेंटाइन सेंटरो में आपने जनता की क्या दुर्गति की यह किसी से छुपा नहीं है. अब तो जागिए.'

बता दें कि, इससे पहले सोमवार को आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव (Lalu Yadav) ने भी ट्वीट करके सीएम नीतीश पर निशाना साधा था. लालू यादव ने लिखा, 'बूझो तो जाने? किस प्रदेश का डरपोक मुख्यमंत्री विगत 83 दिन  से घर से बाहर नहीं निकला है? कोरोना भले ना भागऽल लेकिन ई मुकमंत्री जनता के बीच मँझधार में छोड़ के भाग गऽइल, ई रणछोर के हिसाब-किताब आवे वाला चुनाव में सब लोग मिल-ज़ुल के लऽ.'