बिहार: कृषि बिल का CM नीतीश ने किया समर्थन, विपक्ष के विरोध को लेकर कहा...

नीतीश कुमार ने कहा कि नए कानून के तहत कांट्रैक्ट फार्मिंग से किसान लाभान्वित होंगे. ये काम आम लोगों के हक में हुआ है. इसका लाभ सभी लोगों को मिलेगा.

बिहार: कृषि बिल का CM नीतीश ने किया समर्थन, विपक्ष के विरोध को लेकर कहा...
सीएम नीतीश कुमार कृषि बिल का किसानो के हित मे बताया है. (तस्वीर साभार-@NitishKumar)

पटना: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से 14,260 करोड़ रूपए की लागत से 350 किमी लम्बी 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का शिलान्यास किया. इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर गांव में ऑप्टिकल फाइबर द्वारा इंटरनेट सुविधा का शुभारंभ किया.

हर गांव में ऑप्टिकल फाइबर द्वारा इंटरनेट सुविधा की शुरुआत होने से मार्च 2021 तक बिहार के सभी 45,945 गांवों को इंटरनेट सुविधा मिलेगी. 'भारत नेट' ऑप्टिकल फाइबर से हर गांव को जोड़ा जाएगा. 14,260 करोड़ रुपए की लागत से 350 किलोमीटर लंबी 9 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं के शिलान्यास के अंतर्गत फोरलेन बख्तियारपुर-रजौली सड़क (पैकेज-2), फोरलेन बख्तियारपुर-रजौली सड़क (पैकेज -3), फोरलेन आरा-परारिया सड़क फोरलेन परारिया-मोहनिया सड़क, फोरलेन नरेनपुर-पूर्णिया सड़क, 6-लेन रामनगर-कन्हौली (पटना रिंग रोड ) सड़क, महात्मा गांधी सेतु के समानांतर नए फोरलेन पुल का निर्माण, कोसी नदी पर नए फोरलेन पुल का निर्माण एवं गंगा नदी पर विक्रमशिला सेतु के समानांतर नए फोरलेन पुल का निर्माण की योजनाएं शामिल हैं.

किसानों के हित में दोनों कृषि कानून
इस अवसर पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने कहा कि बिहार के लिए विभिन्न योजनाओं के शुभारंभ एवं शिलान्यास के लिए मैं प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं. उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में आपने जो नए दो कानून बनाए हैं, यह गांव एवं किसान के हित में है. किसान जहां चाहें अपनी उपज बेच सकते हैं. वर्ष 2006 में बिहार में हमलोगों ने एपीएमसी (कृषि उपज बाजार समिति) एक्ट को समाप्त किया था.

राज्यसभा में जो हुआ वह निदंनीय
सीएम ने कहा कि राज्यसभा में रविवार को जो कुछ हुआ है वह बहुत ही गलत है. इसकी जितनी निंदा की जाए वो कम है. एपीएमसी से काफी दिक्कत थी. बिहार में एपीएमसी एक्ट हटाते वक्त बिहार विधानमंडल में भी विपक्ष ने कुछ ऐसा ही किया था. ये लोग चर्चा से भाग गए थे. आपने पूरे देश में एपीएमसी एक्ट को हटाया है, इससे किसान पूरे देश में कहीं पर और किसी को भी अपनी उपज बेच सकते हैं.

नए कानून से किसानों को मिलेगा फायदा
उन्होंने कहा कि नए कानून के तहत कांट्रैक्ट फार्मिंग से किसान लाभान्वित होंगे. ये काम आम लोगों के हक में हुआ है. इसका लाभ सभी लोगों को मिलेगा. लोगों की आमदनी बढ़ेगी. इसके लिए आपको बधाई देते हैं. बिहार में प्राइमरी एग्रीकल्चर कॉपरेटिव सोसाइटी (PACS) के माध्यम से अनाज खरीद का क्रियान्वयन किया जाता है.

ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने से कम्युनिकेशन का लाभ मिलेगा 
मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में पीएम पैकेज के तहत 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा सड़क एवं पुलों के निर्माण पर खर्च किए जा रहे हैं. पैकेज के अतिरिक्त भी कुछ योजनाओं की शुरुआत की गई है. उन्होंने कहा कि आज हर गांव में ऑप्टिकल फाइबर योजना का शुभारंभ किया गया है. इससे बिहार के 45,945 गांवों तक इंटरनेट सुविधा उपलब्ध हो सकेगी. ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने से कम्युनिकेशन का लाभ मिलेगा. इससे लोगों को काफी सुविधा होगी. बिहार में आठ करोड़ से अधिक लोगों के पास मोबाइल हैं. डिजिटल प्रगति का लाभ यहां सभी को मिलेगा.

PM मोदी से किया निवेदन
सीएम नीतीश ने कहा कि मेरा निवेदन है कि दिल्ली से लखनऊ होते हुए गाजीपुर तक बनने वाली 8 लेन सड़क को बक्सर से जोड़ दिया जाए. गाजीपुर से बक्सर की दूरी सिर्फ 16 से 17 किमी ही है. इससे बिहार को काफी फायदा हो जाएगा. इससे दिल्ली और लखनऊ के लिए बिहार को एक और वैकल्पिक सड़क मिल जाएगी. उन्होंने कहा कि भारत-नेपाल सीमा पर 7 मीटर की चैड़ी सड़क बनाई जा रही है. मेरा आग्रह है कि इसे भी फोरलेन बनाया जाए. इससे काफी फायदा होगा.

PM मोदी के नेतृत्व में सड़क निर्माण में हुआ काफी काम
मुख्यमंत्री ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने सड़क निर्माण के क्षेत्र में भी काफी काम किया है. इससे आवागमन में लोगों को सुविधा होने के साथ-साथ बड़ी संख्या में लोगों को काम मिल रहा है. हमलोग हर गांव को सड़क से जोड़ चुके हैं.

सीएम नीतीश ने कहा कि 'मुझे उम्मीद है कि जिन योजनाओं को शुरु किया गया है वे समय पर पूर्ण हो जाएंगी. मैं बिहार के तमाम लोगों की तरफ से सड़कों एवं पुलों के शिलान्यास के साथ-साथ ऑप्टिकल फाइबर से गांवों को जोड़ने के लिए आपको धन्यवाद देता हूं.' उन्होंने कहा कि बिहार में जिस प्रकार से विकास का काम हो रहा है उसके चलते लोगों के मन में प्रसन्नता का भाव है. लोगों को भरोसा है कि उनका एवं आने वाली पीढ़ी का भविष्य उज्ज्वल होगा.