close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहारः राजकीय सम्मान प्राप्त नियोजित शिक्षक ने पुरस्कार का पैसा केरल बाढ़ पीड़ितों को दिया दान

टीचर्स डे के मौके पर सरकार की ओर से 17 शिक्षकों को सम्मानित किया गया.

बिहारः राजकीय सम्मान प्राप्त नियोजित शिक्षक ने पुरस्कार का पैसा केरल बाढ़ पीड़ितों को दिया दान
नियोजित शिक्षक ने सम्मान की राशि केरल बाढ़ पीड़ित राहत कोष को दी.

पटनाः बिहार के एक नियोजित शिक्षक ने बड़ी मिशाल पेश की है. जहां एक ओर पूरे बिहार में नियोजित शिक्षक अपने वेतन को लेकर सरकार से लड़ाई लड़ रहे हैं. वहीं, एक ऐसे नियोजित शिक्षक ने कुछ ऐसा किया जिससे सभी लोग आश्चर्यचकित रह गए.

टीचर्स डे के मौके पर सरकार की ओर से 17 शिक्षकों को सम्मानित किया गया. जिसमें से एक नियोजित शिक्षक ऐसे भी थे जिन्होंने अपनी सम्मान राशि को केरल बाढ़ राहत कोष में दान दे दी.

राजधानी पटना के श्री कृष्ण मेमोरियल हॉल में शिक्षक दिवस के मौके पर बिहार के 17 शिक्षकों को राजकीय सम्मान से सम्मानित किया गया. इस कार्यक्रम में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा भी शामिल हुए थे.

सम्मानित शिक्षकों में नवादा के सिरदला मध्य विद्यालय के शिक्षक राजेश कुमार ने सम्मान मिलते ही फौरन सम्मान की राशि का चेक बिहार सरकार को वापस कर दिया. राजेश को बिहार सरकार की ओर से सम्मान के तौर पर 15 हजार रुपये दिए गए. उन्होंने इस राशि को बाढ़ पीड़ितों को देने के लिए वापस कर दिया.

शिक्षक राजेश का मानना है कि केरल में भीषण बाढ़ आई है. गरीब वहां काफी परेशान हैं. हालांकि यह राशि उनके लिए कुछ भी नहीं, इस राशि से उनकी सारी परेशानी दूर नहीं होगी लेकिन चंद राशि ही सही लेकिन गरीबों के लिए वरदान साबित होगा.

राजेश ने कहा कि शिक्षक समाज का निर्माण करते हैं और उन पर समाज की बड़ी जिम्मेवारी होती है ऐसे में समाजसेवा भी एक फर्ज है. केरल में आयी बाढ़ से काफी तबाही हुई है ऐसे में मेरी ये राशि उन परिवारों के लिये एक छोटी सी मदद है जिससे उनका भला होगा.

इस मौके पर सुशील मोदी ने संबोधन किया. उन्होंने राजेश कुमार की तारीफ भी की. वहीं, इस मौके पर सुशील मोदी ने कहा कि प्राइवेट स्कूलों की फीस को राज्य सरकार नियंत्रित करेगी. इससे संबंधित प्रस्ताव को जल्द ही विधानमंडल में लाकर कानून भी तैयार किया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्राइवेट स्कूल के प्रति लगातार मनमाना फीस वसूलने की शिकायत मिलती रहती है. इसलिए सरकार इस पर सख्त कदम उठाने का निर्णय जल्द लेगी.