सुशांत केस: बिहार डीजीपी का बड़ा बयान,बोले- मुंबई पुलिस 'प्रोफेशनल', सहयोग की पूरी उम्मीद

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या के बाद उनके पिता द्वारा पटना में दायर एफआईआर के आधार पर जांच के लिए मुम्बई गई पटना पुलिस की चार सदस्यीय टीम को मुम्बई पुलिस से सहयोग नहीं मिलने की बातें कई दिनों से सामने आ रही थीं.

सुशांत केस: बिहार डीजीपी का बड़ा बयान,बोले- मुंबई पुलिस 'प्रोफेशनल', सहयोग की पूरी उम्मीद
बिहार के डीजीपी ने कहा है कि मुंबई पुलिस 'हाइली प्रोफेशनल' है और उनसे सहयोग की पूरी उम्मीद है.

पटना: बिहार निवासी बालीवुड के दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या के बाद उनके पिता द्वारा पटना में दायर एफआईआर के आधार पर जांच के लिए मुम्बई गई पटना पुलिस की चार सदस्यीय टीम को मुम्बई पुलिस से सहयोग नहीं मिलने की बातें कई दिनों से सामने आ रही थीं लेकिन बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय ने इस पर विराम लगाते हुए शनिवार को कहा कि मुंबई पुलिस 'हाइली प्रोफेशनल' है और उनसे सहयोग की पूरी उम्मीद है.

पटना में शनिवार को पत्रकारों से चर्चा करते हुए बिहार के डीजीपी ने कहा कि अब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट, घटनास्थल की तस्वीर, वीडियो तथा अन्य 'डाक्यूमेंट' बिहार पुलिस को नहीं मिले हैं लेकिन ये सारे दस्तावेज जल्द ही बिहार पुलिस जांच दल को मिल जाएंगे क्योंकि वह महाराष्ट्र राज्य सरकार और वहां की पेशेवर पुलिस से पूरे सहयोग की उम्मीद कर रहे हैं.

पांडेय ने कहा, "पटना में सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा दर्ज एफआईआर की मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती इस मामले की सुनवाई को मुम्बई स्थानांतरित करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय चली गई है. ऐसे में उम्मीद है कि मुंबई पुलिस सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का इंतजार कर रही होगी. मुझे पूरा यकीन है कि सर्वोच्च न्यायालय का जो भी आदेश आएगा, मुम्बई पुलिस उसे जरूर मानेगी."

मुंबई में जांच करने गई चार सदस्यीय बिहार पुलिस टीम के साथ मुम्बई पुलिस द्वारा गलत व्यवहार किए जाने सम्बंधी वायरल हो रहे वीडियो को लेकर पूछे जाने पर बिहार पुलिस प्रमुख ने इसका खंडन किया. डीजीपी ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. उन्होंने कहा कि मुंबई पुलिस 'प्रोफेशनल' है और उनसे सबको काफी उम्मीदें हैं.

पांडेय ने कहा कि मुंबई गई बिहार पुलिस टीम के सदस्य लगातार मामले की जांच कर रहे हैं और मुम्बई पुलिस डीसीपी क्राइम ने भी मदद का आश्वासन दिया है.

पांडेय ने कहा, "बिहार की टीम मुंबई में डीसीपी क्राइम से मिली थी और उन्होंने भरोसा दिलाया है कि वो लोग कोआपरेट करेंगे. वो भी इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. इसके बाद वो हमे सभी डॉक्यूमेंट देंगे. इसके बाद हम स्वतंत्र तौर पर मामले की जांच कर सकेंगे और जैसा कि मैं पहले भी कह चुका हूं कि बिहार पुलिस इस मामले की जांच में पूरी तरह सक्षम है. बिहार ही नहीं पूरा देश आज इस मामले में सच जानना चाहता है. बिहार पुलिस इसी सच को सामने लाने में लगी है."

डीजीपी ने बताया कि अभी बिहार पुलिस सबूतों के आधार पर काम कर रही है. उन्होंने कहा, "सुशांत की मौत के बाद मैं उन लोगों में था जो सबसे पहले उनके परिवार से मिला. सुशांत के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई है. बिहार पुलिस की टीम मुंबई में है. हमारे सीनियर आईपीएस अधिकारी मुंबई पुलिस के संपर्क में हैं. हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश इंतजार कर रहे हैं. इससे पहले हम सबूतों के आधार पर काम कर रहे हैं."

पांडेय ने यह भी कहा, "राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य के एक प्रतिभाशाली अभिनेता के असमय निधन से काफी दुखी हैं और सुशांत के निधन की खबर मिलने के बाद जब मैं उनके घर गया था तब मैंने उनके पिता से कहा था कि मैं मुख्यमंत्री महोदय की ओर से उनका शोक संदेश लेकर आपके पास आया हूं. इस मुशिकल घड़ी में पूरा प्रदेश आपके साथ है और इसी कारण मैं फिर कह रहा हूं कि बिहार पुलिस का मुखिया होने के नाते पूरे प्रदेश की ओर से मैं सुशांत के परिजनों को न्याय दिलाने का आश्वासन देता हूं."

उल्लेखनीय है कि पटना के रहने वाले और बालीवुड के चर्चित अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली थी. इसके बाद इस मामले की जांच मुंबई पुलिस कर रही थी.

इसके बाद सुशांत के पिता केके सिंह ने 25 जुलाई को रिया चक्रवर्ती और उसके परिवार के सदस्यों सहित छह लोगों के खिलाफ उनके बेटे को आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर पटना के राजीवनगर थाना में एक मामला दर्ज करवाया. मामला दर्ज होने के बाद बिहार पुलिस मुंबई पहुंचकर मामले की जांच कर रही है.

रिया ने हालांकि इस मुकदमे को मुम्बई शिफ्ट किए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इस सम्बंध में सुप्रीम कोर्ट में पांच अगस्त को सुनवाई है.